Asianet News Hindi

MP के कांग्रेस विधायक को महिला नहीं 19 साल का लड़का भेजता था अश्लील वीडियो, पकड़ा गया तो खोले कई रहस्य

एमपी के महाराजपुर विधायक नीरज दीक्षित ने थाना गढ़ीमलहरा में शिकायत दी थी। कोई अज्ञात महिला उनके WhatsApp पर कई मैसेज और वीडियो कॉल करते हुए आपत्तिजनक अवस्था में स्क्रीनशॉट भेजकर ब्लैकमेल करके धमकी दे रही है।

19 year old boy arrested police for blackmailing obscene video congress mla in madhya pradesh kpr
Author
Bhopal, First Published May 30, 2021, 7:45 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

छतरपुर. (मध्य प्रदेश). एमपी पुलिस ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है जो सोशल मीडिया और वीडियो कॉल के माध्यम से हाई प्रोफाइल लोगों को ब्लैकमेल करता था। उसने जालसाजी करके कई लोगों को चूना लगाया है। यहां तक की छतरपुर जिले के कांग्रेस विधायक नीरज दीक्षित के मोबाइल पर आपत्तिजनक अवस्था वाले अश्लील वीडियो और मैसेज भेजकर ब्लैकमेल किया। विधायक ने इसकी शिकायत पुलिस में जाकर की थी। जिसमें उन्होंने कहा था कि कोई महिला उनको गंदे वीडियो भेज ब्लैकमेल कर रही है। जिसके बाद एसपी सचिन शर्मा ने एक स्पेशल टीम का गठन किया और आरोपी तक पहुंचने की प्लानिंग बनाई।

राजस्थान में बैठ 19 साल का लड़के करता था ब्लैकमेल
दरअसल, छतरपुर जिला पुलिस को साइबर सेल क माध्यम से जानकारी मिली और आरोपी तलाश में भरतपुर राजस्थान पहुंची। जहां से 19 साल के आदिल नाम को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। पुलिस ने उसके पास से तीन मोबाइल भी जब्त किए हैं। जिनके जरिए वह अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करता था।

ऐसे सामने आया था पूरा मामला
एसपी सचिन शर्मा ने बताया कि महाराजपुर विधायक नीरज दीक्षित ने 21 मई को थाना गढ़ीमलहरा में शिकायत की थी। उन्होंने अपने आवेदन में लिखा था कि कोई अज्ञात महिला उनको WhatsApp पर कई मैसेज और फिर वीडियो कॉल करते हुए आपत्तिजनक अवस्था में स्क्रीनशॉट भेजकर ब्लैकमेल करके धमकी दे रही है। कहती है कि वह इस क्लिप को सोशल मीडिया पर वायरल कर देगी।

ऐसे बनाते थे लोगों के अश्लील वीडियो
पुलिस पूछताछ में आरोपी युवक ने बताया कि वह सोशल साइटों के जरिए हाई प्रोफाइल अमीर लोगों के मोबाइल नंबर सर्च कर उनसे संपर्क में आते थे। उन्हें अपने चंगुल में फंसाते। जिसके बाद अपने पास रखे रिकार्डिंग एडल्ट वीडियो के द्वारा लड़की बनकर स्क्रीन रिकार्डर की मदद से वीडियो रिकार्ड कर लेते थे। फिर वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करते थे। जिसकी बदले कई लोगों से पैसे मांगते थे। अभी तक हम 21 लोगों से ऐसे ही साइबर एक्सटॉर्शन कर 14 लाख रुपए वसूल चुके हैं।

20 प्रतिशत पर होता था गंदा काम
आदिल ने बताया कि लोगों को ब्लैकमेल करने वाला यह काम उसे गांव के ही रमजान नाम के युवक ने सिखाया था। हम जो मोबाइल और सिम यूज करते थे वह रमजान के होते थे। वह ही हमें लोगों का डाला उपलब्ध कराता था। वह हमसे ब्लैकमेलिंग की कमाई का 20 प्रतिशत लेता था। अब पुलिस उसके साथी रमजान को पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios