Asianet News Hindi

ये महिलाएं मंत्री से अफसर तक पहुंचाती थी कार्ल गर्ल, वीडियो बनाकर मांगती थी 2 करोड़

एमपी ATS ने भोपाल से तीन और इंदोर से दो महिलओं को अलग-अलग इलाके से गिराफ्तार किया है। ये महिलाएं नेताओं से लेकर अधिकारी और बिजनेसमैन तक कार्ल गर्ल पहुंचाती थीं। फिर उनका आपत्तिजनक हालत में वीडियो बनाकर ब्लैकमेल के जरिए पैसा कमाती थीं।

Ladies blackmailing officers and big leaders after making objectionable videos in madhya pradesh
Author
Indore, First Published Sep 19, 2019, 2:15 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

इंदौर. मध्यप्रदेश में आए दिन हनीट्रैप के नए-नए मामले सामने आ रहे हैं। बुधवार को ATS ने भोपाल से तीन और इंदोर से दो महिलओं को अलग-अलग इलाके से गिराफ्तार किया गया है। अभी तक इस केस में टोटल 6 लोगों को हिरासत में लिया है। जब पुलिस ने इन लेडीज से कड़ाई से पूछताछ की तो पता चला कि ये महिलाएं अफसर और  हाईप्रोफाइल लोगों को अपने जाल में फंसाकर उनको ट्रैपिंग के माध्यम से ब्लैकमेल करती थीं।

पूर्व मंत्रियों के साथ भी इन महिलाओं के है संबंध
पुलिस ने इन महिलाओं की गतिविधियों पर पहले से नजर रखी हुई थी। बस देर थी तो सबूत इकठ्ठा करने की। यह लेडीज सभी पॉश एरिया में किराए से रहती थी। कोई मंत्री के घर में किराए से रहती तो कोई किसी बड़े अधिकारी के बंगले में रहती थी।  पुलिस की जांच के दौरान इन महिलाओं के पूर्व मंत्रियों के साथ संबंधों की बात भी सामने आ रही है।

नेताओं से लेकर अफसर तक पहुंचाती थी कार्ल गर्ल
इन महिलओं के खिलाफ भोपाल-इंदोर में शिकायत दर्ज काराई गई थी। ये कई नेताओं से लेकर VIP और बिजनेसमैन तक कार्ल गर्ल पहुंचाकर उनका आपत्तिजनक हालत में वीडियो बनाकर उन लोगों को ब्लैकमेल कर पैसा कमाती थीं। कुछ दिन पहले ही एक महिला ने सोशल मीडिया पर एक बड़े अधिकारी के साथ वीडियो वायरल किया था। वहीं इंदौर के एक नगर निगम में काम करने वाले एक अफसर को ब्लैकमेल कर 2 करोड़ रुपए की डिमांड की थी। इसके बाद अधिकारी ने इस मामले की शिकायत इंदौर पुलिस से की थी।

मामले में पुलिस ने साध रखी है चुप्पी
सभी महिलाओं को पुलिस लेकर इंदौर क्राइम ऑफिस पहुंची है। जहां उनसे पूछताछ की जा रही हा। पुलिस जानना चाहती है इनका गिरोह में और कौन-कौन हैं। जो इस तरह की गतिविधियों को अंजाम देते हैं। जब मीडिया ने पुलिस से इस मामले में बात की तो उन्होंने कुछ कहने से इंकार कर दिया। विभाग के आला अफसरों ने चुप्पी साध रखी है। 

प्रदेश के गृहमंत्री ने कहा कोई नहीं बचेगा
हनी ट्रैप मामले में प्रदेश के गृहमंत्री बाला बच्चन का कहना है कि इस मामले की पूरी जांच होना जरुरी है। जो इस घिनौने काम में लिप्त है वो अब बच नहीं पाएगा। चाहे किसी के कितने ही बड़े संपर्क क्यों न हो सब बेनकाब होंगे। उन्होंने कहा इस केस में अगर कोई नेता या अफसर भी जुड़ा होगा तो वह भी नहीं बच पाएग।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios