दतिया. मध्य प्रदेश में अवैध शराब का धंधा किस तरह से फैला हुआ है, जिसे लोग जान ही गए होंगे। अभी मुरैना के शराबकांड में 24 लोगों की मौत का सिलसिला थमा भी नहीं था कि दतिया जिले से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जहां अवैध शराब के पीने से पांच गायों की मौत हो गई। इस खबर के बाद से जिला प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। पूरे इलाके में इसी बात की चर्चा हो रही है। जानिए क्या है पूरा मामला...

एक-एक कर 5 गायों की मौत, कई की हालत गंभीर
दरअसल, यह मामला दतिया जिले के इंदरगढ़ थाने क्षेत्र के एक गांव का है, जिसे अवैध शराब बनाने का अड्डा बताया जाता है। मुरैना शराबकांड के बाद यहां पर आबकारी के अधिकारियों ने शराब को जब्त करके बीच सड़क पर फैला दी। जिसे आसपास घूम रहीं गायों ने पी ली, इसके कुछ देर बाद ही उनकी हालत बिगड़ती चली गई और एक-एक कर 5 गायों की अब तक मौत हो चुकी है। वहीं कई गायों की हालत भी गंभीर बताई जा रही है। 

अफसरों की लापरवाही से हुई गायों की मौत
इस घटना के बाद से गांव के लोगों में गुस्सा है। उनका कहना है कि गायों की मौत पुलिस विभाग के चलते हुई है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि कुछ दिन पहले आबकारी विभाग और पुलिस ने एक अवैध शराब बनाने वाले एक डेरे पर कार्रवाई करते हुए बड़ी मात्रा में नकली शराब पकड़ी थी। जहां उन्होंने इस अड्डे की भट्टी तोड़ते हुए शराब को जमीन में बहा दिया था। जिसकी वजह से यह घटना हो गई।

शराब के नशे में गायों ने मारना शुरू कर दिया
लोगों ने बताया कि गाय शराब पीने के बाद नशे में आ गईं और आसपास के लोगों को मारना और दौड़ाना शुरू कर दिया। इससे लोग अपने घरों में कैद हो गए, और बच्चों को निकलने नहीं दिया गया। पूरे गांव में अफरातफरी का माहौल बन गया। 

गाय के शवों को सड़क रखकर किया विरोध
गांव के लोगों के साथ साथ बजरंग दल और भाजपा नेताओं ने सड़क पर गायों के शवों को रखकर लापरवाही करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। घटना की जानकारी लगते ही सेवढ़ा के एसडीएम अशोक चौहान मौके पर पहुंचे और दोषियों पर कार्रवाई का आश्वासन दिया। इसके बाद चक्का जाम खत्म करवाया गया।