Asianet News Hindi

दोपहर में मूर्ति की स्थापना..रातभर भगवान के पास रहे भक्त..सुबह शिवलिंग और नंदी गायब..दिलचस्प मामला


भोपाल के सुरेंद्र मीणा ने सोमवार को तीन दिन पूजा पाठ होने के बाद शिवलिंग की स्थापना करवाई थी। जिसके लिए वह कुछ दिन पहले जयपुर से 22 हजार रुपए की यह मूर्ति खरीदकर लाए थे। लेकिन मंगलवार सुबह देखा तो वह मूर्ति गायब थी।

madhya pradesh Interesting news shivling mahadev nandi murti stolen in bhopal kpr
Author
Bhopal, First Published Oct 20, 2020, 6:47 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भोपाल. अभी तक आपने रुपयों और गहनों के अलावा कीमती समान की चोरी की खबरें सुनी होंगी। लेकिन मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक बड़ा ही हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है, जहां चोरों ने भगवान शिव की मूर्ति ही चुरा डाली। दिलचस्प बात यह है कि दोपहर में शिवलिंग की स्थापना हुई थी और रातभर भक्त भगवान के पास सोते रहे। लेकिन जब सुबह उन्होंने देखा तो वहां से शिवलिंग और नंदी गायब थे।

3 दिन तक चली पूजा, चौथे दिन गायब हो गए भगवान
दरअसल, भोपाल में करोंद इलाके से लगा पिपलिया बाज खां गांव है, जहां के रहने वाले सुरेंद्र मीणा ने अपने आसपास और परिवारवालों के साथ सोमवार को तीन दिन पूजा पाठ होने के बाद शिवलिंग की स्थापना करवाई थी। जिसके लिए वह कुछ दिन पहले जयपुर से 22 हजार रुपए की कीमत की यह मूर्ति खरीदकर लाए थे। लेकिन मंगलवार सुबह देखा तो वह मूर्ति वहां नहीं दिखाई दी। क्योंकि उसको चोर चुराकर ले गए। इसकी शिकायत पीड़ित युवक ने पुलिस से भी की।

मूर्ति चोरी होने के पीछे लग रही ये वजह
बता दें की सुरेंद्र मीणा की जहां पर मैंने मूर्ति की स्थापना की थी वो करीब 10 एकड़ 62 डिसमिल जमीन मेरी है। जहां बंदोबस्त में उनकी कुछ जमीन चली गई।  लेकिन अब इस जमीन पर एक पटवारी और कुछ लोग जबरन कब्जा करना चाह रहे हैं। वह लोग यहां पर बने एक नाले की जमीन पर अवैध कब्जा कर रहे हैं। क्योंकि इसी से लगी कुछ सरकारी जगह पड़ी हुई है। जिसके वह मालिक बनाना चाहते हैं।  इसलिए मैंने अपनी ही जमीन और सरकारी जमीन की सरहद पर एक चबूतरा बनाकर भगवान शिव की स्थापना करना चाही, जिसका वह विरोध कर रहे थे। ऐसे मुझे अशंका है कि वही लोग शिवलिंग को चुराकर ले गए होंगे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios