Asianet News Hindi

ये कैसी आत्महत्या: 'में खूश हूं, सांस थमने से पहले फेवरेट क्रिकेटर रोहित शर्मा का मैच देखा, अब जा रहा हूं

 मृतक बीकॉम के साथ-साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की भी तैयारी कर रहा था। कई बार वह सरकारी नौकरी के लिए एग्जाम दे चुका था। लेकिन उसे सफलता नहीं मिली। हालांकि उसे घर से कोई प्रेशर नहीं था, फिर भी उसने ऐसा कदम उठा लिया। अजय ने सुसाइड नोट में लिखा-मैं अपने जीवन में कुछ नहीं कर सका, आपके सपने भी पूरा नहीं कर पाया मम्मी पापा, हो सके तो मुझे माफ करना।

madhya pradesh news emotional story of B.Com student writing a suicide note then hanged death kpr
Author
Gwalior, First Published Apr 12, 2021, 5:57 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ग्वालियर (मध्य प्रदेश). अक्सर युवा को जब असफलता हाथ लगती है तो वह उदास हो जाते हैं और वह आत्महत्या जैसा खौफनाक कदम उठा लेते हैं। वह यही नहीं सोचते की उनके जाने के बाद माता-पिता का क्या होगा। ऐसा ही एक मामला एमपी के ग्वालियर से सामने आया है। जहां एक बीकॉम का छात्र फंदे पर झूला गया। मरने से पहले उसने अपने सुसाइड नोट में लिखा-मम्मी पापा मुझे मांफ करना में आपके सपने पूरे नहीं कर पाया। लेकिन दुनिया छोड़ने से पहले मेरे फेवरेट क्रिकेटर रोहित शर्मा का मैच देखने को मिला।

कुछ देर पहले मां-बहन के साथ खाया खाना और फिर..
दरअसल, यह दुखद मामला गोला का मंदिर थाना क्षेत्र के गोवर्धन कॉलोनी का है। जहां पुलिसकर्मी धर्मेश चौहान के 21 वर्षीय अजय ने दुखी होकर रविवार देर रात अपनी जान दे दी। अजय ने रात मां और बहन के साथ खाना भी खाया था, लेकिन सुबह जब वही मां उसे चाय पीने के लिए बुलाने गई तो वह फंदे से लटका मिला। परजिनों का रो-रोकर बुरा हाल है, मां ने कहा कि कभी उसको देखकर नहीं लगा कि वह इतना परेशान है कि यूं छोड़कर चला जाएगा।

'मम्मी माफ करना..अब मैं GIVE UP कर रहा हूं'
बता दें कि मृतक बीकॉम के साथ-साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की भी तैयारी कर रहा था। कई बार वह सरकारी नौकरी के लिए एग्जाम दे चुका था। लेकिन उसे सफलता नहीं मिली। हालांकि उसे घर से कोई प्रेशर नहीं था, फिर भी उसने ऐसा कदम उठा लिया। अजय ने सुसाइड नोट में लिखा-मैं अपने जीवन में कुछ नहीं कर सका, आपके सपने भी पूरा नहीं कर पाया मम्मी पापा, हो सके तो मुझे माफ करना। अब मैं GIVE UP कर रहा हूं। 

'मैं दिल की बात नहीं बता सका..कायर हूं..
अजय ने अपने सुसाइड नोट में परिवार के सभी सदस्य मां-पिता, अंकल, बहनें, मौसी व भाई के बारे में लिखा है। साथ उसने लिखा-मैं कायर था जो कभी अपन दिल की बात आप लोगों को नहीं बता सका। मम्मी आपके मुझे लेकर कितने बड़े सपने थे कि आपका बेटा ऐसा करेगा..वैसा करेगा, लेकिन कुछ नहीं कर सका। क्योंकि में हार चुका हूं, अपने आप से इसलिए अब दुनिया छोड़कर जा रहा हूं।


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios