Asianet News HindiAsianet News Hindi

एक चिता पर हुआ 5 बच्चों का अंतिम संस्कार, झूठ बोलकर गए तो फिर लौटे ही नहीं

मध्य प्रदेश के देवास जिले में हुई एक दिल दहला देने वाली घटना की वजह से 5 परिवारों में मातम छा गया है। जहां एक साथ 5 बच्चों की तालाब में डूबने से मौत हो गई। पांचों मासूम अपने घरवालों से झूठ बोलकर नहाने के लिए गए थे।

major accident five children drowned in pond water in dewas
Author
Dewas, First Published Oct 9, 2019, 11:03 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

देवास. विजयदशमी के दिन अगर सबसे ज्यादा कोई खुश होता है तो वह हैं बच्चे। क्योंकि वह इस छुट्टी वाले दिन अपने मात-पिता के साथ रावण दहन देखने के लिए जाते हैं। लेकिन मध्य प्रदेश के देवास जिले में हुई एक दिल दहला देने वाली घटना की वजह से 5 परिवारों में मातम छा गया है। जहां एक साथ 5 बच्चों की तालाब में डूबने से मौत हो गई।

घरवालों से झूठ बोलकर गए थे नहाने
दरअसल, यह दर्दनाक हादसा सोनकच्छ के पास बने एक तालाब में हुआ है। जानकारी के मुताबिक, गांववालों ने उन बच्चों इसमें नहाने से मना भी किया था। लेकिन इसके बावजूद भी वह नहीं माने और तालाब में कूद पड़े। किसी तरह ग्रामीणों ने गोताखोरों की मदद से मासूमों को बाहर निकाल कर अस्पताल ले गए, लेकिन डॉक्टरों ने सभी को मृत घोषित कर दिया। 

एक ही चिता पर किया अंतिम संस्कार
जब घरवालों को इस घटना के बारे में पता तो उनका रो-रोकर बुरा हाल है। उनका कहना है कि वह हमसे झूठ बोलकर नहाने के लिए गए थे। उनको हमने पहले भी वहां जाने से मना किया था, लेकिन वह चोरी -छिपे तालाब में नहाने जा पहुंचे। जहां यह दर्दनाक हादसा हो गया। पांचो बच्चों का एक साथ एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया गया।

मृतकों के परिजन को 4-4 लाख रु. की सहायता
इस दर्दनाक घटना पर प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस घटना पर ट्वीट कर गहरा दुख जताया और स्थानीय प्रशासन को मामले की जांच करने के आदेश दिए हैं। वहीं शासन ने मृतकों के परिजन को 4-4 लाख रु. की सहायता देने की घोषणा की। बताया जाता है हादसे की खबर मिलते ही देवास के सांसद महेंद्र सोलंकी और कैबिनेट मंत्री और विधायक सज्जन सिंह वर्मा भी इंदौर से सोनकच्छ के लिए रवाना हो गए हैं।


 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios