Asianet News HindiAsianet News Hindi

24 घंटे-80 KM तक, नर्मदा नदी में बहती रही 65 साल की महिला, जिंदा देख डॉक्टर बोले-ऐसा चमत्कार पहली बार देखा

मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में मां नर्मदा नदी का चमत्करा देखने को मिला है। जहां एक 65 वर्षीय वृद्ध महिला 80 किलोमीटर तक नर्मदा की तेज धार में जीवित बहती चली आई। उसे पूरे 24 घंटे बाद एक जिले से दूसरे जिले से जिंदा निकाला।

miracle news 65 year old woman drifted in narmada river for 24 hours 80 km Madhya Pradesh kpr
Author
First Published Oct 6, 2022, 2:45 PM IST

नरसिंहपुर (मध्य प्रदेश). कहते हैं मां नर्मदा जीवन दायनी है, जो उनकी शरण में आ जाता है मां उसकी रक्षा करती हैं। कुछ ऐसा ही कमाल मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में हुआ है। जहां एक 65 वर्षीय वृद्ध महिला 80 किलोमीटर तक नर्मदा की तेज धार में बहती गई, जिसे पूरे 24 घंटे बाद एक जिले से दूसरे जिले से जिंदा निकाला। जिसने भी महिला के इतने समय तक जिंदा रहने की बात सुनी तो वह हैरान रह गया।

एक लौटा पानी लेने के चक्कर में पानी में समा गई वो
दरअसल, यह मामला नरसिंहपुर जिले के बरमान के सतधारा घाट का है। जहां सागर जिले के हनोता कला गांव की निवासी महिला सुहागरानी मां नर्मदा के घाट पर स्नान और पूजा पाठ करने के लिए पहुंची थी। जैसे ही महिला घाट के किनारे लोटे में जल भरने के लिए गई तो सीढ़ी से उसका पैर फिसल गया। जिसके बाद वह नीचे पानी में गिर गई। देखते ही देखते महिला अचानक गायब हो गई। 

एक जिले से बहते हुए दूसरे जिला पहुंची महिला
कुछ देर बाद देखा तो वह काफी दूर जा चुकी थी। इस दौरान महिला बचाओ बचाओ चीखी, लेकिन किसी को उसकी आवाज सुनाई नहीं दी। हैरानी की बात यह है कि वहां पर मछुआरे भी मौजूद थे, लेकिन किसी को उसकी आवाज नहीं सुनाई दी। इस दौरान महिला रातभर 80 किलोमीटर सफर तय करती रही। महिला बहते हुए रायसेन जिले के बोरास धर्मपुरा घाट पहुंची। तो उसे बहते देख लोगों की नजर उस पर पड़ी। जिसके बाद महिला को बचाकर नदी से बाहर निकाला। तुरंत लोगों ने आनन-फानन में महिला को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

डॉक्टर बोले-ये मां का चमत्कार, महिला ने बताया वो कैसे बची जिंदा
महिला का इलाज करने वाले मेडिकल अधिकारी डॉक्टर राहुल रघुवंशी ने बताया कि यह बड़ा आश्चर्य है कि इतनी दूर से पानी में बहकर महिला सुरक्षित है। यह सब मां नर्माद के कृपा से ही संभव हुआ है। वहीं मौत के मुंह से जिंदा निकलकर बाहर आई महिला ने कहा-मां सच में जीवनदायिनी है, जिन्होंने मुझे आज नया जीवन दिया है। मुझे तो लगा था कि वह अब नहीं बचेगी। लेकिन मां ने मेरे प्राणों की रक्षा की है। में बहते समय सिर्फ मां रेवा का भजन कर रही थी। जिन लोगों ने मेरी आवाज सुनी और मुझे बचाया उनको लिए खूब आशीर्वाद उदयपुरा पुलिस टीआई भाटी ने महिला के परिजनों को सूचना दे दी गई है। परिजन सागर से उसे लेने के लिए उदयपुर रावाना हो गए हैं। फिलहाल उसकी हालत पूर्ण रूप से ठीक है। 

यह भी देखें-मां की गोद में बैठ गरबा देख रही बच्ची के सिर में लगी गोली, खोपड़ी से निकला खून का फव्वारा और मौत

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios