भोपाल. मध्य प्रदेश के हाईप्रोफाइल हनी ट्रैपिंग केस में लगातार नए चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। पकड़ी गईं इन खूबसूरत 'बलाओं' ने कई नेताओं-मंत्रियों, IAS और IPS को अपने मोहपाश में फांस रखा था। उल्लेखनीय है कि इंदौर नगर निगम के एक इंजीनियर की शिकायत पर पुलिस से इन तीन महिलाओं सहित कुछ अन्य लोगों को अरेस्ट किया है। फिलहाल ये सभी पुलिस रिमांड पर हैं। इन्दौर की एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र ने ने बताया कि आरती दयाल (29), मोनिका यादव (18), श्वेता जैन पति विजय जैन (39), श्वेता जैन पति स्पनिल जैन (48), और बरखा सोनी (34) को पुलिस ने अरेस्ट किया है। इनके पास से पुलिस ने 14 लाख से ज्यादा नकदी जब्त की है।  इसके अलावा मोबाइल फोन और एक एसयूवी  भी बरामद हुई है। इनके खिलाफ इंदौर नगर निगम के एक अफसर ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। इस शिकायत पर सबसे पहले आरती, मोनिका और उनके ड्राइवर को अरेस्ट किया गया था। बाद में भोपाल बाकी आरोपियों को पकड़ा गया।


विस्तार से पढ़ें खबर..
हनी ट्रैप केस : इन महिलाओं ने अपने ऐशो-आराम के लिए अफसर हों या नेता, सबको फंसाया

सामने आई चौंकाने वाली लिस्ट..
पुलिस के सामने इन महिलाओं ने कई नामों का खुलासा किया है। इनमें एक पूर्व सीएम, मौजूदा मंत्री सहित कांग्रेस-भाजपा के 6 बड़े नेता, 4 IPS और 5 IAS शामिल हैं। हालांकि पुलिस ने अपनी तरफ से किसी भी नाम का खुलासा नहीं किया है। ये बड़े नाम सामने आने के बाद इंदौर पुलिस के साथ अब इंटेलिजेंस और एटीएस (ATS) फूंक-फूंककर पांव रख रही है। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों एक सीनियर IAS अधिकारी का अश्लील वीडियो वायरल हुआ था। इसके बाद उन्हें लूप लाइन में डाल दिया गया। वे भी इन महिलाओं का शिकार बने थे।


ये हैं कुछ बड़े लोग, जिन्होंने हनी के बदले मनी या अन्य काम दिलाए...

  • -बताते हैं कि एक पूर्व राज्यपाल के यहां इनमें से एक आरोपी महिला का काफी आना-जाना था।
  • -एक पूर्व मुख्यमंत्री ने बदनामी के डर से एक आरोपी महिला को मकान खरीदकर दिया था।
  • -एक मौजूदा मंत्री, जिनकी रंगीन मिजाजी जग जाहिर है।
  • -दो पूर्व मंत्री, जिन्होंने इनमें से एक आरोपी महिला के एनजीओ को कई प्रोजेक्ट दिलाए।
  • -एक पूर्व सांसद, जिन्होंने हनी ट्रैप के बदले बड़ी कीमत चुकाई थी।
  • -डीजी रैंक के एक बड़े IPS, जो इनके मोहपाश में फंसे हुए थे।
  • -एक एडीजी रैंक के अधिकारी, जो किसी सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान इनमें से एक आरोपी महिला के संपर्क में आए थे। 
  • -5 आईएएस अधिकारी, जो इनमें से एक आरोपी महिला के एनजीओ को काम दिलाते रहे।

बरखा सोनी भटनागर:  वर्ष 2014 से यह सेक्स रैकेट से जुड़ी है। इसने अमित सोनी नामक शख्स से दूसरी शादी की है। दोनों एग्रीकल्चर से जुड़े प्रोजेक्ट पर काम करते हैं।

आरती दयाल: इसने पति पंकज के खिलाफ 8 महीने पहले छतरपुर के सिविल लाइन थाने में दहेज प्रताड़ना का केस दर्ज कराया था। अभी यह एक साल से भोपाल के सागर लैंडमार्क, मिनाल रेसीडेंसी में किराए से रह रही थी। इसके पास से एक क्रेटा गाड़ी जब्त हुई है। बताते हैं कि आरती छतरपुर में भी कइयों को ब्लैकमेल कर चुकी है। हालांकि अभी इसकी किसी ने कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई है।

श्वेता विजय जैन:  इसने 2015 में एक कंपनी शुरू की थी। भोपाल में यह मिनाल रेसीडेंसी में रहती है। पुलिस ने इसके घर से 14.17 लाख नगद बरामद किए हैं। यह ऑडी जैसी महंगी कार में घूमती थी।