Asianet News Hindi

कोर्ट में सजा सुनते ही आरोपी ने काट लिया खुदा का गला, जानिए क्या था उसका गुनाह

छतरपुर कोर्ट के न्यायाधीश ने जैसे ही एक युवक को रेप के आरोप में 10 साल कैद की सजा सुनाई तो उसने खुद का गला काट लिया। आरोपी के पिता ने कहा- बेटे को जबरन फंसाया जा रहा है। इसलिए उसने दुखी होकर अपना गला काटा है।

On hearing punishment sentence in court, the accused cut his own throat in Chhatarpur Madhya Pradesh
Author
Chhatarpur, First Published Sep 18, 2019, 7:45 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

छतरपुर (मध्य प्रदेश).  छतरपुर में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जहां के एक आरोपी ने कोर्ट में सजा सुनते ही एक धारदार हथियार से खुद का गला रेत लिया। पुलिस ने आरोपी को फौरन पास के ही सरकारी अस्पताल में एडमिट कराया है। जहां उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है।

दरअसल आरोपी के ऊपर बलात्कार का आरोप है। छतरपुर कोर्ट के न्यायाधीश नोरिन निगम ने जैसे ही युवक को 10 साल कैद की सजा सुनाई तो वह पहले तो रोने लगा, फिर चाकू से खुद के गले पर एक नहीं तीन से चार बार वार कर गला काट लिया। मामला मंगलवार का बताया जा रहा है। आरोपी के गले से ज्यादा खून बह जाने के कारण से डॉक्टरों ने उसकी हालत को गंभीर बताया है। 

क्या है मामला
युवक का नाम ओमकार अहिरवार है जो सागर जिले के बीना शहर का रहने वाला है। वह बीना की रिफायनरी में नौकरी करता है। तीन साल पहले फेसबुक पर एक लड़की से उसकी दोस्ती हुई थी। दोनों में धीरे-धीरे चैटिंग के जरिए प्यार हो गया। फिर दोनों एक-दूसरे से मिलने लगे। आखिर में लड़की ने साल 2016 में युवक पर रेप करने का आरोप लगाकर थाने में शिकायत दर्ज कराई। जिसकी जांच ढाई साल से जिला अदालत में चल रही थी।

युवक के पिता ने बताई गला काटने की वजह
वहीं इस मामले में लड़के के पिता का कहना है कि, मेरे बेटे को जबरन फंसाया गया है। पुलिस ने न तो बेटे का मेडिकल परीक्षण करवाया गया और न ही किसी गबाह के बयान लिए। यह सब हो जाने के बाद भी उसको कोर्ट ने 10 साल की सजा सुना दी। बस इसी बात से दुखी होकर उसने अपना काट लिया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios