इंदौर, मध्य प्रदेश. यहां अपनी प्रेमिका की हत्या के बाद उसके ढाई साल के मासूम को जिंदा तालाब में फेंकने वाले हत्यारे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों की लाश 17 और 18 नवंबर को तालाब में मिली थी। आरोपी और मृतका भीख मांगकर अपना जीवन बसर करते थे। मृतका मानसिक तौर पर अर्ध विक्षिप्त थी। आरोपी ने भीख में अच्छी कमाई की आस में उसे अपने परिवार के साथ रख लिया था। लेकिन किसी बात पर झगड़ा हुआ, तो दोनों को मार डाला। आरोपी के साथ तीन अन्य लोग भी थे, जिनकी तलाश की जा रही है।

पेटीकोट के नाड़े से घोंट दिया गला...
सोमवार देर शाम आरोपी को पुलिस ने पकड़ लिया। आरोपी ने पेटीकोट के नाड़े से महिला का गला घोंट दिया था। फिर तालाब में उसकी लाश फेंक दी। यही नहीं, आरोपी ने मृतका के बच्चे को जिंदा ही तालाब में फेंक दिया था। बता दें कि 17 नवंबर को कनाडिया के ग्राम बिचौली मर्दाना तालाब में ढाई साल के बच्चे की लाश मिली थी। अगले दिन महिला की लाश मिली थी। 25 वर्षीय महिला के बारे में जब पड़ताल की गई, तो मालूम चला कि वो मानसिक तौर पर अर्ध विक्षिप्त थी और भीख मांगती थी। पुलिस ने जब सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो उसमें 35 साल का एक आदमी महिला के साथ जाते दिखाई दिया। उसके हुलिया के आधार पर पुलिस ने शहरभर में पम्पलेट बंटवा दिए। इसी बीच तेजाजी नगर चौराहे पर उसके घूमने की सूचना मिली। इसके बाद पुलिस उसे पकड़ लाई।

इसलिए मार दिया...
आरोपी भैयालाल मूलत: गुना जिले के ग्राम महुगडा का रहने वाला है। वो यहां पत्नी रानी और बेटा राहुल के साथ भीख मांगकर गुजर-बसर करता है। इसी बीच उसे गुना में गायत्री मिली। वो अर्ध विक्षिप्त थी। उसका ढाई साल का बच्चा भी था। भैयालाल उसे अपने साथ ले आया, ताकि भीख अधिक मिल सके। लेकिन घटनावाले दिन दोनों में विवाद हुआ, तो उसने दोनों को मार दिया।

यह भी पढ़ें

जिसके लिए मां-बाप को छोड़कर LIVE IN में रहने लगी, वो कुछ और निकला

पत्नी ने गुस्से में खाया जहर, तो पति 2 बेटों को लेकर हुआ गायब, 4 दिन बाद नहर से मिलीं 3 लाशें