Asianet News HindiAsianet News Hindi

72 घंटे में 4 होमगार्ड को मौत देने वाले सीरियल किलर का अब जेल में खौफ, खाने-सोने और नहाने तक पर पहरा

जेल के अधीक्षक राकेश भांगरे ने कहा कि जब वह नहाता है तो जेल के वार्डन पास ही रहते हैं और जिस थाली में उसे खाना परोसा जाता है उसे खाना खत्म करने के तुरंत बाद वापस ले लिया जाता है। उन्होंने बताया कि धुर्वे किसी भी उपलब्ध सामान को हथियार के रूप में इस्तेमाल में माहिर है। 

Serial Killer of Security Guards, the story of brutal murderer of Madhya Pradesh who is challenge for Police, DVG
Author
First Published Sep 15, 2022, 5:33 PM IST

Security Guards Serial Killer: एमपी के सागर सेंट्रल जेल में एक 18 साल के अपराधी से खूंखार से खूंखार हत्यारे भी खौफ खा रहे हैं। स्वयं जेलर उसकी निगरानी में नहाने से लेकर खाने तक मौजूद रह रहे हैं। हत्या के लिए किसी भी वस्तु का इस्तेमाल करने में माहिर हत्यारे को खाना खिलाने के बाद सुरक्षाकर्मी कोई बर्तन तक नहीं छोड़ रहे हैं। जेल में उसे तन्हाई सेल में रखा गया है। इसके बावजूद उस पर हर वक्त निगरानी हो रही है। जेल के अंदर सेल से निकलने पर अन्य कैदी उससे काफी दूरी ही बनाए रह रहे हैं।

कौन है यह कैदी?

मध्य प्रदेश का यह सीरियल किलर 18 साल की उम्र में ही चार सुरक्षागार्ड्स की बलि ले चुका है। तीन दिनों में चार सिक्योरिटी गार्ड्स की हत्या करने वाले शिव प्रसाद धुर्वे पर छह हत्याओं का आरोप है। सितंबर महीने की शुरूआत में सागर में 72 घंटों में तीन-तीन सिक्योरिटी गार्ड्स की हत्या कर दी गई। अभी पुलिस इन हत्याओं की वजह और हत्यारे की तलाश में थी कि भोपाल में भी समान तरीके से एक और सिक्योरिटी गार्ड की हत्या कर दी गई। चार-चार सिक्योरिटी गार्ड्स की एक ही तरीके से हत्या के बाद पुलिस की पेशानी पर बल पड़ गई। पुलिसवाले परेशान होकर सीरियल किलर को ढूंढ़ने में जुट गए। 2 सितंबर को पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी और इन लोगों ने किलर को अरेस्ट कर लिया। 

हत्या की वजह जानकर रह जाएंगे हैरान

शिव प्रसाद धुर्वे ने चार-चार हत्याओं को अंजाम देकर एमपी पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था को कटघरे में खड़ा कर दिया लेकिन जब पुलिस ने गिरफ्तारी के बाद हत्या की वजह पूछी तो उसने कुछ जवाब नहीं दिया। पुलिस के अनुसार सीरियल किलर धुर्वे ने बिना वजह के सभी हत्याओं को अंजाम दिया।
 
जेल में खौफ खा रहे सभी, किसी भी चीज को हथियार बनाने में माहिर

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि धुर्वे की गिरफ्तारी के बाद उसे सागर सेंट्रल जेल में रखा गया है लेकिन डर की वजह से अन्य कैदी उसके पास जाने से कतरा रहे हैं। उस पर छह हत्याओं का केस दर्ज है। अभी तक उसके परिवार का कोई भी सदस्य उससे मिलने नहीं आ सका है। जेल के अधीक्षक राकेश भांगरे ने कहा कि जब वह नहाता है तो जेल के वार्डन पास ही रहते हैं और जिस थाली में उसे खाना परोसा जाता है उसे खाना खत्म करने के तुरंत बाद वापस ले लिया जाता है। उन्होंने बताया कि धुर्वे किसी भी उपलब्ध सामान को हथियार के रूप में इस्तेमाल में माहिर है। इसलिए उसके पास या साथ कोई बर्तन तक रखने की अनुमति नहीं दी जा सकती है। हालांकि, जेलर का यह भी दावा है कि सीरियल किलर का जेल में व्यवहार बेहद सामान्य है। उसने धार्मिक शैक्षिक किताबें पढ़ने को दी गई हैं। उन्होंने बताया कि वह क्लास 8 तक पढ़ा है। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios