Asianet News HindiAsianet News Hindi

तारीखों में 26/11 मुंबई अटैक: आज भी पाकिस्तान में खुल्ला घूम रहे हैं मासूमों के हत्यारे

अरब सागर के रास्ते कराची से निकले आतंकियों ने मुंबई में अलग-अलग जगहों पर  मचाया था  मौत का कोहराम उसमें कई बेगुनाह लोगों की जानें गईं थीं
 

26/11 mumbai attacks culprits are still roaming freely
Author
Maharashtra, First Published Nov 23, 2019, 2:04 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई: कैलेंडर पर मुंबई हमला इतिहास की एक ऐसी तारीख के रूप में दर्ज है, जिसे भारत आजतक नहीं भुला पाता। अरब सागर के रास्ते कराची से निकले आतंकियों ने मुंबई में अलग-अलग जगहों पर मौत का जो कोहराम मचाया उसमें उसमें कई बेगुनाह लोगों की जानें गईं।

हमले को नाकाम करने की कोशिश में हमारे कई बहादुर जवान भी शहीद हुए। 26/11 की बरसी पर मुंबई हमले से जुड़ी एक-एक तारीख पर सिलसिलेवार घटनाओं की जानकारी दे रहे हैं। 

 हर भारतीय याद रखे ये तारीख

1) छत्रपति शिवाजी टर्मिनस रेलवे स्टेशन

26 नवंबर 2008 : 90 मिनट तक आतंकियों ने अंधाधुंध गोलियां चलाईं, करीब 58 लोग मारे गए। स्टेशन के बाहर पुलिस बैरिकेड के पास आग लगाई। भीड़ में 10 लोगों की जलकर मौत।

2) कैफे लियोपॉल्ड

26 नवंबर 2008 : आतंकी हमले में 10-15 मिनट के अंदर 10 लोगों की मौत।

3) कामा, एल्बलेस हॉस्पिटल

26 नवंबर 2008 : पुलिस के एक ग्रुप पर आतंकियों ने अंधाधुंध गोलियां चलाईं। 6 लोग मारे गए।

4) नरीमन हाउस

26-28 नवंबर 2008: यहूदी सामुदायिक केंद्र में लोगों को बंधक बनाकर आतंक का नंगा नाच। तीन दिन में सात लोग की हत्या।

5) ओबेरॉय-ट्राइडेंट होटल

26-28 नवंबर, 2008: होटल में बंदूक की नोक पर लोगों को तीन दिन तक बंधक बनाए रखा। करीब 30 लोग मारे गए।

6) ताज महल पैलेस और टॉवर होटल

26-29 नवंबर, 2008: चार दिन तक आतंकियों ने होटल में लोगों को बंधक बनाए रखा। 31 लोग मारे गए।

25 फरवरी, 2009 : आतंकी हमले के मुख्य आरोपी अजमल कसाब को जिंदा पकड़ा गया।

3 अक्टूबर, 2009 : अमेरिकी नागरिक डेविड कोलमैन हेडली (उर्फ दाऊद गिलानी) को शिकागो में गिरफ्तार किया गया। उस पर मुंबई हमले में निशाना बनाने के लिए लोकेशन की जानकारी देने का आरोप लगा।

18 अक्टूबर, 2009 : कनाडाई नागरिक तहवुर हुसैन राणा को भी शिकागो में गिरफ्तार किया गया। वह भी हमलों की योजना बनाने में शामिल था। उस पर आरोप है कि उसने 2008 हमलों के लिए हेडली को पाकिस्तान पहुंचाने में फर्जी वीजा दिलाने के लिए मदद की।

 

26/11 mumbai attacks culprits are still roaming freely

25 नवंबर, 2009 : पाकिस्तान में मुंबई हमले के लिए जकी-उर-रहमान लखवी सहित सात लोगों पर हमले का आरोप लगा।

18 मार्च 2010: डेविड हेडली को मुंबई अटैक में आरोपों का दोषी पाया गया।

3 मई, 2010 : अजमल कसाब को भारत पर आतंकी हमले की साजिश, हत्याएं और युद्ध छेड़ने का दोषी ठहराया गया।

6 मई 2010 : अजमल कसाब को फांसी की सजा मिली।

9 जून, 2011: हुसैन राणा को मुंबई के हमलावरों को हथियार आदि की मदद देने के आरोप में साजिश का दोषी नहीं पाया गया।

21 नवंबर 2012 : अजमल कसाब को भारत में फांसी पर लटकाया गया।

24 जनवरी, 2013 : हेडली को 35 साल की जेल की सजा सुनाई गई।

13 मार्च, 2015 : पाकिस्तान में इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने हमले के मास्टर माइंड लखवी को रिहा करने का आदेश दिया, उस पर लगे आरोपों को गैरकानूनी बताया गया।

10 अप्रेल  2015 : मुंबई हमले के आरोपी लखवी को पाकिस्तान में बेल पर रिहा कर दिया गया।

29 जनवरी, 2017 : लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े एक समूह के नेता हाफिज सईद को मुंबई हमलों में संदिग्ध भूमिका के लिए पाकिस्तान में नजरबंद रखा गया।

24 नवंबर, 2017 : लाहौर हाई कोर्ट ने सबूतों की कमी का हवाला देते हुए हाफिज सईद को हाउस अरेस्ट से छोड़ दिया। सईद को लश्कर-ए-तैयबा का सरगना कहने वाले अमेरिका ने रिहाई पर गहरी चिंता व्यक्त की।

17 जुलाई, 2019 : हाफिज सईद को पाकिस्तान के काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट ने मुंबई हमलों के लिए आर्थिक मदद देने के आरोप में गिरफ्तार किया।

 

(प्रतीकात्मक फोटो)

 


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios