Asianet News HindiAsianet News Hindi

Drug Case: नवाब मलिक के सनसनीखेज ट्वीट, समीर वानखेड़े बोले बहन और स्वर्गीय मां को भी टारगेट किया जा रहा

क्रूज ड्रग्स केस आर्यन खान मामले की जांच कर रहे मुंबई एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की जांच पर सवाल खड़े होने लगे हैं। एनसीबी के नेता नवाब मलिक ने अब उनपर  निजी हमला शुरू कर दिया है।

Aryan Khan Drug Case, NCB zonal director Sameer Wankhede said in NDPS court that his sister and late mother are also targeted
Author
Mumbai Central Railway Station Building, First Published Oct 25, 2021, 1:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई (महाराष्ट्र). क्रूज ड्रग्स केस आर्यन खान (Aryan Khan Drug Case) मामले की जांच कर रहे मुंबई एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) की जांच पर सवाल खड़े होने लगे हैं। एनसीबी के नेता नवाब मलिक (NCP leader  Nawab Malik) ने अब उनपर  निजी हमला शुरू कर दिया है। इसी बीच  समीर वानखेड़े ने मुंबई के पुलिस कमिश्नर को चिट्ठी लिखी है। साथ ही कहा कि उन्हें झूठे केस में फंसाने की साज़िश रची जा रही है। जिसके चलते वह सोमवार को सेशंस कोर्ट चले गए हैं। साथ ही कहा कि वाह शाम में एक प्रेस कांफ्रेंस करेंगे, जिसमें सभी के सवालों का जवाब देंगे।

यह भी पढ़ें-Aryan Khan Drug Case:समीर वानखेड़े ने पुलिस कमिश्नर को लिखा लेटर, झूठे केस में फंसाने पर कही ये बात

समीर वानखेड़े का 20-25 साल पुराना फोटो किया शेयर
दरअसल, नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े का 20-25 साल पुराना फोटो और बर्थ सर्टिफिकेट को ट्वीट किया है। इस तस्वीर के साथ नवाब मलिक ने कैप्शन में लिखा है- पहचान कौन?, साथ ही एनसीबी अधिकार कर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

'' समीर दाऊद वानखेड़े का यहां से शुरू हुआ फर्जीवाड़ा''

बता दें कि नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े की करीब 25 पुरानी तस्वीर के साथ ही एक बर्थ सर्टिफिकेट की तस्वीर भी शेयर की है। जिसे अधिकारी का बर्थ सर्टिफिकेट बताया है। जिसके कैप्शन में लिखा है कि यहां से शुरू हुआ समीर दाऊद वानखेड़े का फर्जीवाड़ा।


''नौकरी पाने के लिए दी गलत जानकारी''
नवाब मलिक के ट्वीट किए समीर वानखेड़े के बर्थ सर्टिफिकेट को देख लोग सवाल करने के हैं कि क्या समीर मुस्लिम परिवार से आते हैं। साथ ही यह भी आरोप लगाया जा रहा है कि उन्होंने गलत तरीके से आरक्षण का फायदा उठाया और इंडियन रेवेन्यू सर्विस की नौकरी हासिल की। आखिर क्यों नौकरी के लिए उन्होंने अपना धर्म छिपाया।

''मेरी मां मुस्लिम थीं तो क्या अब उन्हें भी मामले में घसीटना चाहते हैं''

नवाब मलिक के ट्वीट का जवाब देते हुए समीर वानखेड़े ने कहा कि मुझे अपने जन्म प्रमाण पत्र को लेकर नवाब मलिक गलत आरोपों में फंसा रहे हैं। इन सभी चीजों को लाने का एक घटिया प्रयास है, जिनका ड्रग केस से कोई लेना देना नहीं है। मेरी मां मुस्लिम थी तो क्या वह मेरी मृत मां को इस सब में लाना चाहते हैं? मेरी जाति और पृष्ठभूमि को सत्यापित करने के लिए वह, आप या कोई भी मेरे मूल स्थान पर जा सकता है और मेरे परदादा से मेरे वंश का सत्यापन कर सकता है। मैं यह सब कानूनी रूप से लड़ूंगा।

वानखेड़े के खिलाफ भ्रष्टाचार की जांच शुरू
वहीं समीर वानखेड़े के खिलाफ इंटरनल विजिलेंस ने जांच शुरू कर दी है। वानखेड़े पर आरोप लगा है कि उन्होंने शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को ड्रग केस में रिहा करने के लिए 25 करोड़ रुपए का लेनदेन किया है। एनसीबी के डिप्टी डायरेक्टर जनरल और एजेंसी के चीफ विजिलेंस ऑफिसर ज्ञानेश्वर सिंह खुद वानखेड़े के खिलाफ जांच कर रहे हं। 
 

 

Aryan Khan Drugs Case: आर्यन खान और उनके दोस्तों पर NCB ने लगाया नया आरोप, बताया कैसे की ड्रग्स की पेमेंट

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios