Asianet News HindiAsianet News Hindi

पत्नी ने क्यों छोड़े थे तकिये के नीचे कंडोम के 2 पैकेट और कप पर लिपिस्टिक के दाग

मुंबई के प्रमोद अनंत पाटनकर मर्डर मिस्ट्री का सनसनीखेज खुलासा हुआ है। मीरा रोड इलाके में रहने वाले प्रमोद की 15 जुलाई को गला दबाकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में प्रमोद  की पत्नी दीप्ति और उसके प्रेमी का षड्यंत्र सामने आया है। आरोपियों ने कुछ यूं प्लानिंग की थी, ताकि पुलिस चकरघन्नी बनी घूमती रहे।

Pramod Anant Patankar  Murder Mystery  Revealed,  Mira Road, mumbai crime case
Author
Mumbai, First Published Aug 7, 2019, 5:23 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. कोई अपराधी कितना भी षड्यंत्र कर ले, एक न एक दिन उसे सलाखों के पीछे जाना ही पड़ता है। 7 जुलाई को मीरा रोड में रहने वाले प्रमोद अनंत पाटनकर की गला दबाकर हत्या कर दी गई थी। आरोपियों ने घटनास्थल पर जानबूझकर कुछ ऐसे सबूत छोड़े थे, ताकि पुलिस की जांच सही दिशा में न पहुंचे। हालांकि वही सबूत आरोपियों तक पहुंचने का जरिया बन गए। 

कंडोम के पैकेट और लिपिस्टिक के दाग
प्रमोद का मर्डर उसी की पत्नी ने अपने प्रेमी के संग मिलकर किया था। MBA पास दीप्ति गोरेगांव के एक स्कूल में जॉब करती है। दीप्ति और समाधान के बीच 2011 से अवैध संबंध थे। समाधान पुणे में रहता है। वो दीप्ति से मिलने अकसर मुंबई आता था। एक बार प्रमोद ने दोनों को आपत्तिजनक हालत में पकड़ लिया था। दीप्ति ने तब पूरे परिवार के सामने माफी मांगी थी। हालांकि यह महज एक दिखावा था। पुलिस की जांच में खुलासा हुआ है कि दीप्ति-समाधान इससे पहले भी दो बार प्रमोद को मारने की असफल कोशिश कर चुके थे। घटनावाले दिन सुबह करीब 7 बजे दीप्ति ने प्रमोद के लिए चाय बनाई। उसमें बेहोशी की दवा मिला दी। उसे पीकर प्रमोद गहरी नींद में चला गया। करीब डेढ़ घंटे बाद समाधान वहां पहुंच गया। उसने प्रमोद का गला दबा दिया। इसके बाद दीप्ति ने बेडरूम में तकिये के नीचे कंडोम के दो पैकेट रख दिए। वहीं चाय के दो कप भी रखे। एक कप पर समाधान ने लिपिस्टिक के निशान छोड़ दिए। मकसद था कि पुलिस को लगे कि प्रमोद का किसी महिला से चक्कर है। वो उससे मिलने आई होगी।

मर्डर के बाद बनाए थे संबंध
डीएसपी शांतराम वलवी ने बताया कि आरोपी 7 अगस्त तक हिरासत में है। डीएसपी ने बताया कि प्रमोद मीरा रोड के रामदेव पार्क इलाके में एनजी स्प्रिंग बिल्डिंग में दीप्ति और 3 साल की बेटी के साथ रहता था। 7 जुलाई को प्रमोद के ससुर भानुदास भावेकर ने नवघर पुलिस को इत्तला दी थी कि प्रमोद घर में बेहोश पड़ा है। असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर साहेब पोटे अपनी टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और मुआयना किया। मालूम चला कि घर में चोरी भी हुई थी। सोने की चेन, प्रमोद का मोबाइल और 3000 रुपए गायब थे। घटना को यूं बताने की कोशिश की गई, जैसे लगे कि प्रमोद को दिल का दौरा पड़ा होगा। हालांकि पुलिस ने देखा कि प्रमोद की गर्दन, गले और सीने में खराश के अलावा नाक तक खून आया होगा। वहीं कप पर मिले लिपिस्टिक के दाग किसी महिला के नहीं नजर आए।  जब पुलिस ने पड़ताल की, तो सारा मामला सामने आया गया। जांच में पता चला कि प्रमोद के मर्डर के बाद दीप्ति और समाधान ने घटनास्थल पर ही रिलेशन भी बनाए थे।


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios