Asianet News HindiAsianet News Hindi

आर्यन खान ड्रग्स केस में ट्विस्ट, लखनऊ में सरेंडर करेगा मुख्य गवाह किरण गोसावी, बोला - मेरी जान को खतरा

किरण गोसावी ने कहा, मैं सरेंडर होने जा रहा हूं, महाराष्ट्र पुलिस पर भरोसा नहीं कर सकता हूं। महाराष्ट्र में मेरी जान को खतरा है। समीर वानखेड़े के खिलाफ सारे आरोप गलत हैं, क्रूज रेड पार्टी सच्ची थी।

ryan Khan Drug Case, abscond kiran gosavi will surrender in lucknow,uttar pradesh
Author
Mumbai, First Published Oct 25, 2021, 8:40 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई : आर्यन खान ड्रग्स केस (Aryan Khan Drug Case) में हर दिन नया ट्विस्ट देखने को मिल रहा है।  मामले का मुख्य गवाह किरण गोसावी उत्तर प्रदेश (uttar pradesh) की राजधानी लखनऊ (lucknow) में सरेंडर करेगा। अब इस पर फरार चल रहा केपी गोसावी सामने आया है। उसने कहा है कि उस पर लगाए गए सभी आरोप झूठे हैं। उसे ही धमकाया जा रहा था क्योंकि उसने आर्यन खान की गिरफ्तारी कराई थी। अब वह सरेंडर करने जा रहा है, वो भी महाराष्ट्र से बाहर। वह लखनऊ में सरेंडर कर सकता है।

किरण गोसावी ने क्या कहा
एक टीवी चैनल से फोन पर बातचीत में किरण गोसावी ने कहा, मैं सरेंडर होने जा रहा हूं, महाराष्ट्र पुलिस पर भरोसा नहीं कर सकता हूं। महाराष्ट्र में मेरी जान को खतरा है। समीर वानखेड़े के खिलाफ सारे आरोप गलत हैं, क्रूज रेड पार्टी सच्ची थी। उसने बताया कि मैंने आर्यन खान की बात 2 तारीख को सैम से करवाई थी, क्योंकि आर्यन काफी परेशान था, वो बार-बार बोल रहा था कि उसे उसके घरवालों से बात करनी है लेकिन उसके घरवालों से मैं बात नहीं करवा सकता था उसी वक्त मुझे इस केस से जुड़े एक और विटनेस का कॉल आया और उसने आर्यन की बात सैम से करवाई। सैम ने मुझे क्रूज केस में विटनेस के लिए बुलाया था, मैं पहले कभी समीर वानखेड़े से नहीं मिला था। प्रभाकर साईल का सारा आरोप गलत है, ना उस रात पूजा डडलानी से मिला, ना पैसे लिए, ना 25 करोड़ की डील हुई, ना समीर जी को एक रुपया दिया। मुझे धमकी आ रही है सरकारी महकमे से जान से मारने की, इसलिए मैंने 6 अक्टूबर से फोन बन्द रखा था। मेरा परिवार सुरक्षित नहीं है। 

प्रभाकर के बयान के पीछे बड़े आदमी का दिमाग
किरण गोसावी ने आगे बताया कि प्रभाकर के बयान के पीछे बड़े आदमी का दिमाग है। प्रभाकर शरीर से मोटा है दिमाग से कमजोर है, मैं जनता हूं। मेरे पीछे पुलिस लगी है, पुराने केस उजागर हो रहे हैं, लुक आउट नोटिस जारी कर दिया गया है। या तो मुझे अंदर मारेंगे या बाहर मौत होगी, मरना पक्का है इसलिए सरेंडर हो रहा हूं। मैं डरा हुआ हूं। समीर वानखेड़े सच्चे आदमी हैं, सारे आरोप राजनैतिक हैं, ये उन्हें ड्रग माफियाओं की फंसने की साजिश है। उसने बताया कि प्रभाकर ने मेरी गर्लफ्रैंड से पैसे मांगे, नहीं देने पर मीडिया में जाने की धमकी दी, मैं उसे बराबर पगार दे रहा था। ये सब खेल हो रहा है। मुझे क्रूज पर सैम ने बुलाया था। आर्यन का हाथ पकड़कर इएलिए उस दिन भागा क्योंकि बारिश हो रही थी और आर्यन डरा हुआ था, उसी ने मुझे कहा कि मैं उसे कवर करूं और मैंने उसे कवर किया था। 

बॉडीगार्ड ने लगाए हैं आरोप
खुद को किरण गोसावी (Kirana Gosavi) का बॉडीगार्ड बताने वाले प्रभाकर सईल ने दावा किया है कि क्रूज पार्टी रेड के वक्त वह गोसावी के साथ थे। प्रभाकर का कहना है कि इस घटना के बाद से जब से किरण गोसावी रहस्यमय तरीके से गायब हो गए हैं, तब से उनकी जान को खतरा है। प्रभाकर ने अपने हलफनामे में सैम डिसूजा नाम के एक शख्स का भी जिक्र किया है। उसके मुताबिक सैम डिसूजा से उनकी मुलाकात NCB दफ्तर के बाहर ही हुई थी। उस वक्त वह केपी गोसावी से मिलने पहुंचे थे। दोनों  NCB दफ्तर से लोअर परेल के पास बिग बाजार के पास अपनी अपनी कार में पहुंचे। एफिडेविट में दावा किया गया है कि गोसावी सैम नाम के शख्स से फोन पर 25 करोड़ रुपए से बात शुरू कर 18 करोड़ में फिक्स करने की बात कर रहे थे। उन्होंने 8 करोड़ रुपए समीर वानखेड़े (sameer wankhede) को देने की भी बात कही।

किरण गोसावी पर दर्ज है FIR
किरण गोसावी पर युवकों को विदेश में नौकरी दिलाने को लेकर लाखों की ठगी करने के मामले में महाराष्ट्र की केलवा पुलिस ने केस दर्ज किया है। इस केस के बाद गोसावी के खिलाफ महाराष्ट्र में धोखाधड़ी और अन्य आरोप में दर्ज मामलों की संख्या चार हो गई है।

इसे भी पढ़ें-मुश्किल में समीर वानखेड़े: रिश्वत के आरोप में कार्रवाई रोकने से NDPS कोर्ट का इनकार, विजिलेंस जांच भी शुरू

आर्यन के साथ सेल्फी हुई थी वायरल
किरण गोसावी का नाम क्रूज ड्रग मामले के बाद सबसे पहले तब सामने आया जब उसने शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) के बेटे आर्यन के साथ अपनी तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट की थी। उस समय कई लोगों का लगा ​​था कि वह NCB का अधिकारी है। ब्यूरो ने बाद में साफ किया कि वह एक निजी जासूस और एक प्लेसमेंट एजेंसी का मालिक है और क्रूज मामले में 10 स्वतंत्र गवाहों में से एक है।

समीर वानखेड़े ने लगाई थी अर्जी
इससे पहले आज NCB के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने कोर्ट में हलफनामा जमा किया और कहा कि उन्हें डराया जा रहा है। जांच प्रभावित करने के लिए राजनीतिक पहुंच के लोग उन्हें गिरफ्तार कर करवा सकते हैं। अब इस घटनाक्रम ने नाटकीय मोड़ ले लिया है क्योंकि फरार चल रहा केपी गोसावी अब सामने आया है। वह क्रूज ड्रग्स केस में गवाह भी है।

इसे भी पढ़ें-अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद को मिला नया अध्यक्ष, नरेंद्र गिर‍ि की जगह महंत रविंद्र पुरी को मिली गद्दी

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios