Asianet News Hindi

तुम मुझे रक्त दो, मैं तुम्हें एक किलो चिकन या पनीर दूंगा...एक ब्लड डोनेशन कैम्प ऐसा भी

कहते हैं कि रक्तदान-महादान! लेकिन कोरोना काल में रक्तदाता आगे नहीं आ रहे हैं। नतीजा, मुंबई के ब्लड बैंक ब्लड की कमी से जूझ रहे हैं। ऐसे में रक्तदान को बढ़ावा देने तमाम संगठनों ने रक्तदान शिविर लगाना शुरू कर दिए हैं। इन सबके बीच शिवसेना की एक नगर इकाई ने रक्तदाताओं को रिझाने हैरान करने वाली पहल की है। यह मीडिया में चर्चा का विषय बनी हुई है।

Shiv Sena shocking blood donation camp, donate blood and get free chicken or cheese kpa
Author
Mumbai, First Published Dec 7, 2020, 4:23 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


मुंबई. आपने एक स्लोगन खूब सुना होगा-'रक्तदान महादान!' यानी सारे दान एक तरफ और रक्तदान दूसरी तरफ। लेकिन कोरोनाकाल में यह दान करने वाले घरों से नहीं निकल रहे। समझ सकते हैं कि रक्त की कितनी जरूरत पड़ती है। रक्त के अभाव में बीमारों और घायलों की जान खतरे में पड़ जाती है। रक्तदाताओं की कमी के चलते मुंबई के ब्लड बैंक ब्लड की कमी से जूझ रहे हैं। ऐसे में रक्तदान को बढ़ावा देने तमाम संगठनों ने रक्तदान शिविर लगाना शुरू कर दिए हैं। इन सबके बीच शिवसेना की एक नगर इकाई ने रक्तदाताओं को रिझाने हैरान करने वाली पहल की है। यह मीडिया में चर्चा का विषय बनी हुई है।

रक्तदाताओं को प्रलोभन...

एक ब्लड डोनेशन कैम्प माहिम-वर्ली विधानसभा क्षेत्रों में कॉर्पोरेटर समाधान सदा शंकर द्वारा लोअर परेल स्थित केईएम अस्पताल के सहयोग से किया गया है। इसका मराठी में लिखा पोस्टर सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। इसमें कहा गया है कि हर ब्लड डोनर को 1 किलो चिकन मिलेगा। जो वेज डोनर होगा, वो पनीर ले जा सकेगा।

पोस्टर में लिखा गया है कि यह शिविर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अपील के अनुसार लगाया जा रहा है। शिविर न्यू प्रभादेवी रोड स्थित राजभाऊ सालवी ग्राउंड में 13 दिसंबर को सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक रखा गया है। इसके लिए डोनर्स को 11 दिसंबर से पहले सामाना प्रेस के पास, शिव सेना 194 में अपना पंजीकरण कराना होगा। यह पोस्टर शिवसेना के युवासेना कार्यकारिणी सदस्य, नगरसेवक समाधान सदा सरवणकर ने लगाया है।

बता दें कि लॉकडाउन में पाबंदी के चलते लोग घरों से नहीं निकल पाए, इससे ब्लड बैंकों में ब्लड की कमी हो गई है।

यह भी पढ़ें-

कोरोना ने बदली जिंदगी, तो सामने आईं 2020 में देसी जुगाड़ से बनीं ये गजब की चीजें और कमाई के तरीके

4 साल की उम्र में बीमारी से हुई पिता की मौत, तब ठान लिया था कि कुछ बड़ा करेंगी, तैयार की कोरोना वैक्सीन

भगवान रहम करो: इस तस्वीर की सच्चाई जान हो जाएंगे शॉक्ड, जिंदगी की सबसे बडी खुशी में भी मौत का खौफ

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios