Asianet News HindiAsianet News Hindi

कपल अड़ गया 'कागज' नहीं दिखाएंगे, लेकिन मुफ्त में सुविधाएं सारी चाहिए थीं

यह हैं बंटी-बबली! लेकिन ये किसी को चाकू-छुरी या डरा-धमकाकर नहीं लूटते थे। किसी का माल भी छीनकर नहीं भागते थे। ये लोगों को अपनी दयनीय हालत का हवाला देकर बेवकूफ बनाते थे।
 

Shocking story of a Mumbai Fraud couple cheating on the Excuses of child's illness  kpa
Author
Mumbai, First Published Dec 27, 2019, 5:41 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. कोई मां मासूम बच्चे की बीमारी का हवाला देकर मदद मांगे, तो यकीनन आप अपनी हैसियत के मुताबिक कुछ न कुछ मदद जरूर करेंगे। कोई पिता अगर आंखों में आंसू भरकर आपके आगे मदद के लिए हाथ फैलाए, तो आप उसकी झोली खाली नहीं लौटाएंगे। यह कपल लोगों की इसी भलमनसाहत का फायदा उठा रहा था। इस बार यह कपल अपने मासूम बच्चे के दिल में छेद होने के बहाने मुंबई में बिना कोई रोकड़ा खर्च किए नये साल का जश्न मनाने पहुंचा था। लेकिन किसी को शक हुआ और सारा खेल खत्म हो गया।


कई लोग मदद के लिए आगे आए...
यह है लोनावाला का रहने वाला विजय हरिश्चंद भोसले। वो अपनी पत्नी और मासूम बच्चे के साथ मुंबई पहुंचा था। गुरुवार को कपल कांदिवली(वेस्ट) में लिंक रोड पर स्थित महावीर नगर में सावित्रीबाई फुले गार्डन पहुंचा। यहां उसने एक आरएसएस कार्यकर्ता अमृत सोलंकी से संपर्क किया। विजय ने बताया कि उसके बच्चे के दिल में छेद है। वो इलाज कराने मुंबई आया है। विजय ने खुद को गरीब बताया। विजय 'वामनराव पिल्लई आश्रम' का पता पूछ रहा था, ताकि वहां उसके रहने और खाने का फ्री में इंतजाम हो सके। अमृत सोलंकी ने बताया कि हमने वहां का पता खोजने की कोशिश की। लेकिन यह दम्पती वहां नहीं जा सका। लिहाजा उन्होंने मानवीय आधार पर अपने कुछ परिचितों से संपर्क किया। इसके बाद परेल स्थित 'नाना पालकर सेवा समिति' में दम्पती के फ्री में रुकने और खाने का इंतजाम करा दिया। यह संस्था मुंबई में इलाज के लिए आने वालों के लिए मुफ्त में आवास मुहैयार कराती है।

Shocking story of a Mumbai Fraud couple cheating on the Excuses of child's illness  kpa
वोटर आईडी ने फेर दिया मंसूबों पर पानी...

'नाना पालकर सेवा समिति' कपल की मदद के लिए आगे आई। लेकिन उन्हें बीमार बच्चे के मेडिकल कागजात मांगे। लेकिन कपल ने कागजात दिखाने से मना कर दिया। वो बहानेबाजी करने लगा। कपल अड़ गया कि वो कोई भी कागजात नहीं दिखाएगा। इस पर समिति को शक हुआ और उन्होंने कांदिवली पुलिस को कॉल कर दिया। पुलिस ने थोड़ा हड़काकर कपल से दस्तावेज मांगे। विजय ने डरते हुए अपना वोटर आईडी पुलिस को दे दिया। पुलिस की सख्ती के बाद विजय ने अपनी बहन का मोबाइल नंबर भी दिया। विजय की बहन खंडाला के अजानुज गांव में रहती है। पुलिस ने जब उससे विजय के बारे में पूछा, तो सारी पोल खुल गई। उसने बताया कि विजय आतदन शराबी है। वो लोगों को बेवकूफ बनाकर पैसे ऐंठता है।

नये साल का जश्न मनाने मुंबई आया था...
पुलिस के मुताबिक, विजय ने अपने रिश्तेदारों से पैसे ऐंठने की कोशिश की। लेकिन नाकाम रहा। वो मुंबई में नये साल का जश्न मनाना चाहता था, इसलिए इस बार उसने बच्चे की बीमारी का बहाना तैयार किया। उसने अपनी पत्नी को भी इस फ्रॉड में शामिल कर लिया था। पुलिस ने कपल के बायोमेट्रिक और संपर्क नंबर लिए और कड़े शब्दों में चेतावनी देकर जाने दिया। उन्हें चेताया गया कि अगर दुबारा ऐसा करते पकड़े गए, तो जेल जाना पड़ सकता है। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios