Asianet News HindiAsianet News Hindi

पाकिस्तान में करतारपुर साहिब जाएंगे BJP सांसद सनी देओल, कहा- मैं नहीं जाऊंगा तो भला कौन जाएगा


करतारपुर साहिब के दर्शन के लिए जाने वाले पहले जत्थे में गुरदासपुर के सांसद और फिल्म अभिनेता सनी देओल भी शामिल होंगे। इजाजत मिलने पर सांसद ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि गुरदासपुर उनका क्षेत्र है और उनका घर भी है। ऐसे में अगर वह पाकिस्तान नहीं जाएंगे तो कौन जाएगा? 

'If I won't go, who woll?': MP Sunny Deol on attending kartarpur ceremony
Author
Gurdaspur, First Published Nov 8, 2019, 8:32 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गुरदासपुर. सिखो के प्रथम गुरु गुरुनानक देव के 550 वें प्रकाश पर्व के मौके पर करतारपुर साहिब के दर्शन के लिए जाने वाले पहले जत्थे में गुरदासपुर के सांसद और फिल्म अभिनेता सनी देओल भी शामिल होंगे। पंजाब के मुख्यमंत्री कार्यालय ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि सनी देओल करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन के बाद पाकिस्तान जाने वाले पहले आधिकारिक जत्थे में शामिल होंगे। आधिकारिक जानकारी के अनुसार, करतारपुर जाने वाले पहले जत्थे में कुल 670 लोग शामिल होंगे। 

मैं नहीं तो कौन जाएगा पाकिस्तान

आधिकारिक अनुमति मिलने के बाद सिनेस्टार व सांसद सनी देओल ने इस फैसले पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि गुरदासपुर उनका क्षेत्र है और उनका घर भी है। ऐसे में अगर वह पाकिस्तान नहीं जाएंगे तो कौन जाएगा? करतारपुर जाने वाले जत्थे में पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह समेत उनकी पूरी कैबिनेट मौजूद होगी। आपको बता दें कि 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन किया जाएगा। पाकिस्‍तान ने इसके लिए कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू को भी निमंत्रण भेजा है, जिसे उन्‍होंने स्‍वीकार कर लिया है। 

12 नवंबर को मनाया जाएगा प्रकाशोत्सव 

पाकिस्तान ने सिद्धू को वीजा देते हुए करतारपुर आने का न्यौता दिया है। इसके अलावा भारत की ओर से भी सिद्धू को पाकिस्तान जाने की राजनीतिक मंजूरी दी गई है। गौरतलब है कि सिखों के प्रथम गुरु गुरुनानक देव ने करतारपुर साहिब में अपने जीवन के 18 साल बिताए। 12 नवंबर को गुरु नानक का 550वां प्रकाश पर्व मनाया जाएगा। श्री करतापुर साहिब गुरुद्वारे को पहला गुरुद्वारा माना जाता है जिसकी नींव गुरु नानक देव ने रखी थी। हालांकि बाद में रावी नदी में बाढ़ के कारण यह बह गया था। इसके बाद वर्तमान गुरुद्वारा महाराजा रंजीत सिंह ने बनवाया था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios