हैदराबाद। तेलंगाना में बुधवार को सुबह 4 बजे एक तीन साल का बच्चा 120 फिट गहरे बोरवेल में गिर गया। रेस्क्यू टीम की 10 घंटे की मशक्कत के बाद जब उसे बाहर निकाला तो देखा कि बच्चे की सांस घुटने के कारण मौत हो चुकी है। यह घटना तेलंगाना के मेडाक जिले की है। यहां एक तीन साल का बच्चा अपने दादा और पिता के साथ खेत पर गया था। तेलंगाना पुलिस के मुताबिक बच्चा बोरवेल के पास खेल रहा था और वह फिसल कर उसमें गिर गया। जैसे ही उसके पिता को बच्चा नहीं दिखा तो उन्होंने उसे खोजना शुरू किया। थोड़ी देर बाद उन्हें पता चला कि बच्चा बोरवेल में गिर गया है। मौके पर नेशनल डिजास्टर रिस्पोन्स टीम भी पहुंच गई और लगातार 10 घंटे की मशक्कत के बाद बच्चे को बाहर निकाला गया। बाहर निकलने के बाद देखा तो बच्चे का दम घुट चुका था। पुलिस ने बताया कि बच्चा जैसे ही बोरवेल में गिरा उसके बाद उसके ऊपर मिट्टी गिर जाने के कारण उस तक पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं पहुंच रही थी जिसकी वजह से उसका दम घुट गया। मेडाक जिले के एसपी चंदना दीप्ती ने बताया कि परिजनों की जानकारी के बाद नेशनल डिजास्टर रिस्पोंस की टीम भी मौके पर पहुंच गई थी लेकिन बच्चे को बाहर निकालने से कुछ घंटे पहले ही उसकी मौत हुई है। बच्चे के परिजनों ने पानी की तलाश में खेत में 3 बोर कराए थे लेकिन तीनों सूखे थे। बच्चे के गिरने के बाद बोर से मिट्टी उस पर गिर गई जिससे बच्चे तक पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं पहुंच पा रही थी और उसका दम घुटने से मौत हो गई। बच्चे को परिजनों को सौंप दिया है।