Asianet News Hindi

किसान आंदोलन: टिकैत और योगेंद्र यादव पर FIR, 200 उपद्रवी अरेस्ट, कैंसल हो सकता है संसद मार्च

गणतंत्र दिवस के मौके पर किसान आंदोलन के दौरान हुई हिंसा के बाद दिल्ली पुलिस ने 22 लोगों पर एफआईआर दर्ज की है। इनमें टिकैत और योगेंद्र यादव भी शामिल हैं। इस मामले में 200 लोगों को अरेस्ट किया गया है। इन्हें सार्वजनिक सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने और पुलिस पर हमला करने का दोषी माना गया है। हिंसा के पीछे खालिस्तान समर्थकों को हाथ माना जा रहा है। वहीं, किसान नेताओं ने इस मामले से पल्ला झाड़ लिया है। इस बीच किसान संगठनों के 1 फरवरी को बजट के दिन संसद तक मार्च पर संशय खड़ा हो गया है। माना जा रहा है कि इसे रद्द किया जा सकता है।

After the violence in the farmers movement, Case filed against 200 people kpa
Author
Delhi, First Published Jan 27, 2021, 1:35 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. किसान आंदोलन की आड़ में गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हुई हिंसा के बाद पुलिस ने 22 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। इस मामले में 200 लोगों को अरेस्ट किया गया है। बता दें कि ट्रैक्टर मार्च के दौरान उपद्रवियों ने लाल किले पर जमकर उत्पात मचाया था। पुलिस अब हिंसा के पीछे काम करने वालों को ढूंढ़ रही है। इस हिंसा में 150 पुलिसकर्मी सहित 300 से ज्यादा लोग घायल हुए। पुलिस सीसीटीवी फुटेज से उपद्रवियों की पहचान कर रही है। लालकिले, नांगलोई, मुकरबा चौक, सेंट्रल दिल्ली आदि से सीसीटीवी फुटेज निकलवाकर स्पेशल सेल और क्राइम ब्रांच को जांच के लिए सौंपे गए हैं। इस बीच किसान संगठनों के 1 फरवरी को बजट के दिन संसद तक मार्च पर संशय खड़ा हो गया है। माना जा रहा है कि इसे रद्द किया जा सकता है। बता दें कि किसान संगठनों ने ऐलान किया था कि किसान प्रदर्शन स्थल से संसद तक मार्च निकालेंगे। 

किसान नेताओं पर कंसा शिकंजा

किसान नेता राकेश टिकैत और स्वराज इंडिया के संस्थापक योगेंद्र यादव के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है। अन्य नेताओं में डॉ. दर्शनपाल, जोगिंदर सिंह, बूटा सिंह, बलबीर सिंह राजेवाल और राजेंद्र सिंह का नाम भी शामिल हैं। अलग-अलग थानों में अलग-अलग नेताओं के खिलाफ केस दर्ज किए गए हैं। ईस्टर्न रेंज के जॉइंट कमिश्नर ने बताया कि इन लोगों के खिलाफ गाजीपुर, पांडवनगर और सीमापुरी थाने में केस दर्ज किया गया है। इस बीच बताया जाता है कि साइबर सेल ने 1000 से अधिक ट्वीटर हैंडल की पहचान की है, जिनके जरिये हिंसा फैलाने का काम किया गया। इनमें कई बड़े नाम भी शामिल हैं।

बातचीत के रास्ते खुले रहेंगे
दिल्ली में हुई हिंसा के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का एक बयान सामने आया है। इसमें उन्होंने कहा कि किसान संगठनों से सरकार की बातचीत जारी रहेगी। बातचीत के रास्ते बंद नहीं हुए हैं। जावड़ेकर कैबिनेट के फैसलों की जानकारी दे रहे थे।

पुलिस की कड़ी चौकसी
हिंसा के बाद दिल्ली पुलिस की छावनी बन गई है। वीआईपी इलाके लुटियंस जोन का रास्ता बंद कर दिया गया है। इंडिया गेट, प्रगति मैदान और मंडी हाउस जाने वाले रास्ते भी बंद हैं। आईटीओ और कनॉट प्लेस पर भी लोग नहीं जा सकते। लाल किला मेट्रो स्टेशन पर किसी को एंट्री नहीं दी जा रही है।

पुलिस की कड़ी चौकसी
हिंसा के बाद दिल्ली पुलिस की छावनी बन गई है। वीआईपी इलाके लुटियंस जोन का रास्ता बंद कर दिया गया है। इंडिया गेट, प्रगति मैदान और मंडी हाउस जाने वाले रास्ते भी बंद हैं। आईटीओ और कनॉट प्लेस पर भी लोग नहीं जा सकते। लाल किला मेट्रो स्टेशन पर किसी को एंट्री नहीं दी जा रही है।

नेताओं की मुश्किलें बढ़ीं
पुलिस के अनुसार, 5 FIR में किसान नेताओं के नाम शामिल हैं। इससे उनकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। इस मामले में गृह मंत्रालय ने रिपोर्ट मांगी है। इसके आधार पर और लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज होंगी। संस्कृति मंत्री प्रह्लाद पटेल ने लाल किले का दौरा किया और स्थिति देखी। दिल्ली पुलिस ने लाल किले में डकैती डालने का केस दर्ज किया है।

 

किसान आंदोलन से जुड़ी ये भी खबरें पढ़ें...

1) किसान आंदोलन: टिकैत और योगेंद्र यादव पर FIR, 200 उपद्रवी अरेस्ट, कैंसल हो सकता है संसद मार्च 

2) खून देखकर भी नहीं रुके किसान बरसाते रहे लाठियां, सुनिए लाल किले में घायल हुए पुलिसकर्मी की आपबीती

3) दिल्ली में किसानों के बवाल के बाद की 10 वीभत्स तस्वीरें, कैसे लाल किले में तोड़फोड़ कर उखाड़ डाले CCTV तक

4) कौन है दीप सिद्धू जिसे लेकर मचा है देश में बवाल?

5) राकेश टिकैत के वायरल वीडियो में मिला हिंसा का सबूत, नेता ने कहा- लाठी डंडे साथ रखियो

6) गिड़िगिड़ाते जवानों को पीटते किसानः जान बचाने लाल किले की दीवार से 20 फीट नीचे कूदे पुलिसकर्मी

7) Video: लाल किले पर क्यों और किसने फहराया केसरी झंडा? सुनिए हिंसा के मास्टर माइंड ने क्या कहा

8) दंगे की भयंकर तस्वीर, पहले बस पलटने की कोशिश की, सफल नहीं हुए तो ट्रैक्टर से मारी टक्कर

9) Video: किसानों की खुलेआम गुंडागर्दी, महिला पुलिसकर्मी को भी नहीं बख्शा... सरेआम की पिटाई

10) खतरनाक स्तर पर किसान आंदोलन, पुलिस हुई पस्त, दिल्ली हुई तहस नहस, रौंगटे खड़े करने वाले Video

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios