Asianet News Hindi

वायुसेना दिवस : बालाकोट में एयर स्‍ट्राइक करने वाले वॉरियर्स को सम्मानित किया गया

गाजियाबाद के हिंडन एयरफोर्स स्टेशन पर भारतीय वायुसेना ने 88वां स्थापना दिवस मनाया। इस दौरान सेना की ओर से जवानों को सम्मानित किया गया। वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने दो दर्जन से ज्यादा वायुसेना अधिकारियों का सम्मान किया। इसमें वो जवान भी शामिल रहे, जिन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ बालाकोट में हुई एयर स्ट्राइक में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

Air Force Day: Warriors Honoring Air Strikes at Balakot
Author
Ghaziabad, First Published Oct 8, 2020, 11:46 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गाजियाबाद. राजधानी दिल्ली से सटे गाजियाबाद के हिंडन एयरफोर्स स्टेशन पर भारतीय वायुसेना ने 88वां स्थापना दिवस मनाया। इस दौरान सेना की ओर से जवानों को सम्मानित किया गया। वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने दो दर्जन से ज्यादा वायुसेना अधिकारियों का सम्मान किया। इसमें वो जवान भी शामिल रहे, जिन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ बालाकोट में हुई एयर स्ट्राइक में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

किसे किया गया सम्मानित?
बालाकोट एयर स्ट्राइक में शामिल होने वाले तीन वायुसेना अधिकारियों को वायुसेना दिवस के मौके पर सम्मानित किया गया। इनमें स्क्वाड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल, जो कि फाइटर कंट्रोलर थीं शामिल रहीं। एयरस्ट्राइक के बाद जब पाकिस्तानी वायुसेना ने काउंटर अटैक करने की कोशिश की तो उन्होंने ही पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया था। विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान के प्लेन को जब हिट लगी तो उस वक्त मिंटी अग्रवाल ही पूरे ऑपरेशन में सभी पायलट को सूचनाएं दे रहीं थीं।

उनके अलावा ग्रुप कैप्टन हंसल, ग्रुप कैप्टन हेमंत कुमार वडसेरा को भी वायुसेना प्रमुख ने सम्मानित किया। तीनों को युवा सेना मेडल से सम्मानित किया गया।

मालूम हो कि युवा सेना मेडल उन जवानों को दिया जाता है, जो कि युद्ध के वक्त में अपनी जान जोखिम में डालकर देश की रक्षा करते हैं। ये मेडल सिर्फ युद्ध ही नहीं बल्कि तनाव और अन्य ऐसे मौकों पर जब दुश्मन से सीधे सामना हो तब भी दिया जाता है।

कब हुई थी एयरस्ट्राइक?

फरवरी 2019 में पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयरस्ट्राइक कर जवाबी कार्यवाही की थी। कार्यवाही में भारतीय वायुसेना ने आतंकी अड्डों को निशाना बनाया गया था और जैश के आतंकियों को ढेर किया गया था। इस दौरान पाकिस्तान ने भी भारत में अपने लड़ाकू विमान भेजे थे, लेकिन भारत ने उन्हें खदेड़ दिया था। 


फ्लाइंग ब्रांच से लेकर मौसम विभाग की टीम तक, पूर्व विंग कमांडर से Indian Airforce को समझिए

"

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios