Asianet News HindiAsianet News Hindi

फेस्टिवल सीजन के नाम पर विमान कंपनियां यात्रियों को लूट रहीं हैं, सरकार इस मामले में दखल दे: भाकपा

उन्होंने आगामी सात मार्च को मुंबई से लखनऊ का किराया 15 हजार रुपये वसूले जाने की घटना का हवाला देते हुये कहा कि यह निजी विमानन कंपनियों और भारत सरकार के बीच हुए सेवा शर्तों संबंधी समझौते का सरासर उल्लंघन है। 

Aircraft companies are looting passengers in the name of festival season, the government intervene in this matter: CPI
Author
New Delhi, First Published Mar 2, 2020, 4:52 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. भाकपा ने निजी क्षेत्र की विमानन कंपनियों पर त्योहार के नाम पर यात्रियों से नियमों की अनदेखी कर बढ़ा हुआ किराया वसूलने का आरोप लगाते हुए सरकार से इस मामले में दखल देने की मांग की है।

अनजान का आरोप कंपनियां फेस्टिवल सीजन के नाम पर अधिक किराय वसूल रही है

भाकपा के राष्ट्रीय सचिव अतुल कुमार अनजान ने सोमवार को कहा कि निजी विमानन कंपनियों के लिये त्याहारों का समय यात्रियों को लूटने का नया तरीका बन गया है। इसमें विमानन कंपनियां सामान्य दिनों की तुलना में यात्रियों से ‘फेस्टिवल सीजन’ के नाम पर अधिक किराया वसूलने लगती हैं। अनजान ने नागर विमानन मंत्री का ध्यान इस समस्या की ओर आकृष्ट करते हुए कहा कि होली के दौरान निजी विमानन कंपनियों ने विभिन्न राज्यों की राजधानी से प्रमुख शहरों की हवाई यात्रा का किराया सामान्य किराये की तुलना में तीन गुना तक बढ़ा दिया है।

सरकार को इस मामले में दखल देना चाहिए

उन्होंने आगामी सात मार्च को मुंबई से लखनऊ का किराया 15 हजार रुपये वसूले जाने की घटना का हवाला देते हुये कहा कि यह निजी विमानन कंपनियों और भारत सरकार के बीच हुए सेवा शर्तों संबंधी समझौते का सरासर उल्लंघन है। अनजान ने कहा कि सामान्य दिनों में मुंबई से लखनऊ का किराया छह हजार रुपये है। उन्होंने कहा कि सभी त्योहारों से पहले विमानन कंपनियों द्वारा यात्रियों से अधिक किराया वसूलने की प्रवृत्ति सामान्य हो गई है। इसे देखते हुए सरकार को इस मामले में तत्काल दखल देना चाहिए।

(यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)

(फाइल फोटो)
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios