Asianet News HindiAsianet News Hindi

उधर रूस-यूक्रेन कोई कम्प्रोमाइज करने को राजी नहीं, इधर इन्होंने 'गठबंधन' का सर्टिफिकेट ले लिया

28 वर्षीय यूक्रेनी महिला अलोना बर्माका और रूस में पैदा हुए 37 वर्षीय व्यक्ति सर्गेई नोविकोव (Sergey Novikov) ने भारत के विशेष विवाह अधिनियम के तहत सोमवार को धर्मशाला में अपनी शादी का रजिस्ट्रेशन कराया। 

All is fair in love and war, Russian-born man, Ukrainian woman gave a message of peace by getting married kpa
Author
First Published Sep 6, 2022, 6:32 AM IST

धर्मशाला. कहते हैं कि प्रेम और युद्ध में सबकुछ जायज(All's fair in love and war) है। प्यार में दुश्मन भी गले मिल जाते है। यह कपल इसका उदाहरण है। 28 वर्षीय यूक्रेनी महिला अलोना बरमाका (Alona Burmaka) और रूस में पैदा हुए 37 वर्षीय व्यक्ति सर्गेई नोविकोव (Sergey Novikov) ने भारत के विशेष विवाह अधिनियम( Special Marriage Act of India) के तहत सोमवार को धर्मशाला में अपनी शादी का रजिस्ट्रेशन कराया। हालांकि, उन्होंने एक महीने पहले ही हिंदू परंपरा के अनुसार शादी की रस्में निभाई हैं। सर्गेई अब एक इजरायली नागरिक है। जबकि रूस और यूक्रेन एक भयंकर युद्ध में उलझे हुए हैं, इन दोनों ने इस मौके पर अपने-अपने देशों से युद्ध नहीं, प्यार करने का आग्रह किया। एक महीने पहले कपल ने हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में शादी की थी।

बता दें कि 24 फरवरी से रूस-यू्क्रेन में यु्द्ध छिड़ा हुआ है
24 फरवरी को कथिततौर पर यूक्रेन के डोनेट्स्क और लुहान्स्क रिपब्लिक के लोगों ने रूस से स्वतंत्रता के लिए मदद मांगी थी। इसके बाद रूस ने यूक्रेन में एक स्पेशल मिलिट्री ऑपरेशन शुरू कर दिया था। रूसी डिफेंस मिनिस्ट्री ने कहा कि स्पेशल मिलिट्री ऑपरेशन केवल यूक्रेनी यूक्रेनियन मिलट्री इन्फ्रास्ट्रक्चर को टार्गेट कर रहा है, यानी नागरिक आबादी खतरे में नहीं है।

धर्मशाला में विदेशियों की 40 प्रतिशत शादियां स्पेशल मैरिज एक्ट में रजिस्टर्ड
इस कपल को SDM धर्मशाला शिल्प बेकता ने विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र(marriage registration certificate) जारी किया। बेक्ता ने मीडिया को बताया कि धर्मशाला में विदेशियों की करीब 40 फीसदी शादियां स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत दर्ज हैं। उन्होंने बताया कि 1 जनवरी से 5 सितंबर, 2022 तक 106 शादियां रजिस्टर्ड की गई हैं। लगभग 40 शादियां विदेशियों से संबंधित हैं। 

हिंदू रीति-रिवाजों से की थी शादी
कपल ने अगस्त में हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में खरोता के पास स्थित दिव्य आश्रम में हिंदू परंपरा से शादी की थी। विवाह समारोह में स्थानीय लोग भी शामिल हुए और मंगल गीत के साथ-साथ हिमाचली लोकगीत के बीच पूरी परंपरा और रस्में निभाई गई थीं। मठ के एक पुजारी ने बताया कि पंडित रमन शर्मा ने दोनों का विवाह संपन्न कराया यह हिंदू रीति-रिवाजों के तहत हुआ और सनाधन धर्म के महत्व के बारे में उन्हें बताया गया। इस दौरान दूल्हा और दुल्हन ने हिंदू परंपरा के तहत सभी रस्में पूरी की और फेरे लिए। दूल्हें ने शेरवानी पहनी थी, जबकि दुल्हन ने साड़ी थी। 

दूल्हा-दुल्हन की अपील 
"हम इज़राइल और यूक्रेन से आते हैं। हम पिछले साल भारत आए और महसूस किया कि हिंदू परंपरा से शादी करने के लिए यह एक विशेष जगह है। कभी रूस और यूक्रेन भाई जैसे थे। हमें प्यार करने की जरूरत है, युद्ध की नहीं। यह लोगों के बारे में नहीं है, बल्कि उन सरकारों के बारे में है जो लड़ रहे हैं"-सर्गेई नोविकोव, दूल्हा

"मैं इज़राइल में सर्गेई से मिला और हम लगभग छह साल से साथ हैं। जब हम भारत आए, तो हमने शादी करने का फैसला किया, अपनी आत्माओं को जोड़ने के लिए। हमें भारत और इसकी संस्कृति पसंद है जो कि बहुत गहरी, अच्छी, प्यारी है-" दुल्हन अलोना बरमाका

यह भी पढ़ें
स्कूल में कांड: Girlfriend को इम्प्रेस करने अशरफुल इस्लाम से 'जीतू दादा' बने इस लड़के ने टीचर के ले लिए प्राण'
15 साल की उम्र में स्कूल से भाग आतंकी से किया निकाह, 3 बच्चों की मां बनी'जिहादी दुल्हन' की कहानी में नया Twist
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios