Asianet News Hindi

55 साल के हुए अमित शाह, मौजूदा राजनीति के चाणक्य माने जाते हैं गृह मंत्री

एक भारतीय राजनीतिज्ञ और वर्तमान भारत के गृह मंत्री हैं। वे भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं। भारत के गुजरात राज्य के गृहमंत्री और भाजपा के महासचिव रह चुके हैं। सम्प्रति वे राज्यसभा के सदस्य रहे चुके हैं, और वर्तमान में गांधी नगर से लोकसभा के सांसद है। 

Amit Shah, 55 years old, home minister considered Chanakya of current politics
Author
New Delhi, First Published Oct 22, 2019, 8:15 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. एक भारतीय राजनीतिज्ञ और वर्तमान भारत के गृह मंत्री हैं। वे भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं। भारत के गुजरात राज्य के गृहमंत्री और भाजपा के महासचिव रह चुके हैं। सम्प्रति वे राज्यसभा के सदस्य रहे चुके हैं, और वर्तमान में गांधी नगर से लोकसभा के सांसद है। उनका जन्म 22 अक्टूबर 1964 को मुंबई के संपन्न गुजराती परिवार में हुआ था। उनकी मां का नाम कुसुमबेन और पिता का नाम अनिलचंद्र शाह है। अमित शाह को मौजूदा राजनीति का चाणक्य माना जाता है।

शाह ने 370 हटाने का ऐतिहासिक फैसला लिया
मोदी सरकार के द्वितीय कार्यकाल में गृहमंत्री के पद पर रहते हुए अमित शाह ने जम्मू कश्मीर से धारा 370 को हटाने का बड़ा फैसला लिया जिससे उनके अडिग और निर्भय स्वभाव का पता चलता है। शाह ने उस समय बीजेपी अध्यक्ष की कमान संभाली है, जब से पार्टी ने कई मुकाम हासिल किए। हालांकि उनको राजनीति विरासत में नहीं मिली है। अहमदाबाद से बॉयोकेमिस्ट्री में बीएससी करने के बाद अमित शाह ने अपने पिता के प्लास्टिक के पाइप का कारोबार संभालने लगे थे। इसके बाद उन्होंने स्टॉक मार्केट में कदम रखा और शेयर ब्रोकर के रूप में काम किया। जब उन्होंने राजनीति में कदम रखा, तो फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा।

16 साल की उम्र में RSS से जुड़ गए थे शाह
अमित शाह ने साल 1980 में 16 वर्ष की आयु में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से जुड़ गए थे और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (ABVP) के कार्यकर्ता बन गए थे। शाह अपनी कार्यकुशलता और सक्रियता के दम पर महज दो वर्ष बाद यानी 1982 में एबीवीपी की गुजरात इकाई के संयुक्त सचिव बन गए। उनकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से 1986 में मुलाकात हुई थी और यह मुलाकात दोस्ती में बदल गई थी।

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री बने शाह
अमित शाह की क्षमता को देखते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय नेतृत्व ने 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले उनको राष्ट्रीय महासचिव बनाकर 80 सांसदों वाले उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया। इसके बाद साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 71 सीटों पर ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी।

2016 में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में दोबारा चुना 
इसके बाद जुलाई 2014 में अमित शाह को बीजेपी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बना दिया गया। वो पार्टी के सबसे युवा अध्यक्ष हैं। उनको 24 जनवरी 2016 को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में दोबारा चुना गया और वो अभी तक इस पद पर बने हुए हैं। दूसरी बार जब मोदी सरकार लोकसभा चुनाव जीतकर केंद्र की सत्ता में आई, तो अमित शाह को केंद्रीय गृहमंत्री बनाया गया। इसके बाद उन्होंने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने जैसे कई ऐतिहासिक कदम उठाए।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios