Asianet News HindiAsianet News Hindi

Ankita Murder Case: अपनी ही गढ़ी झूठी कहानी में फंस गए अंकिता के कातिल, ऐसे हुआ तीनों का पर्दाफाश

अंकिता भंडारी मर्डर केस में आए दिन नए-नए खुलासे हो रहे हैं। उत्तराखंड के पूर्व मंत्री के बेटे पुलकित आर्य ने अपने ही रिसॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट का काम करने वाली अंकिता भंडारी को मौत के घाट उतार दिया। दरअसल, इसकी वजह अंकिता का उसके नाजायज ऑफर को ठुकराना था।

Ankita Bhandari murderer trapped in her own fabricated false story kpg
Author
First Published Sep 27, 2022, 1:56 PM IST

Ankita Murder Case: अंकिता भंडारी मर्डर केस में आए दिन नए-नए खुलासे हो रहे हैं। उत्तराखंड के पूर्व मंत्री के बेटे पुलकित आर्य ने अपने ही रिसॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट का काम करने वाली अंकिता भंडारी को मौत के घाट उतार दिया। दरअसल, इसकी वजह अंकिता का उसके नाजायज ऑफर को ठुकराना था। 18 सितंबर की रात को ही पुलकित अपने कुछ दोस्तों के साथ अंकिता को ऋषिकेश घुमाने के बहाने ले गया और उसे नहर में धक्का दे दिया। इसके बाद ये सभी मिलकर पुलिस को गुमराह करते रहे। हालांकि, जम्मू में रहने वाले अंकिता के एक दोस्त पुष्प के पास एक ऐसा सबूत था, जिसने आरोपियों द्वारा गढ़ी झूठी कहानी का पर्दाफाश कर दिया। 

अंकिता के दोस्त ने दिया सबसे बड़ा सुराग : 
अंकिता भंडारी मर्डर केस में सबसे बड़ा सुराग जम्मू में रहने वाले अंकिता के दोस्त पुष्प ने दिया है। जब पुष्प ने अंकिता के बारे में पूछताछ करने के लिए बीजेपी नेता के बेटे पुलकित आर्य समेत तीनों आरोपियों को फोन किया था, तो उनके बीच क्या बातचीत हुई थी, इसका ऑडियो सामने आ चुका है। इसे अंकिता के दोस्त पुष्प ने ही रिकॉर्ड किया था। दरअसल, 18 सितंबर की रात को जब पुष्प की अंकिता से बात नहीं हुई और अंकिता का मोबाइल उसे बंद मिला, तब उसने 19 सितंबर को दिन में पुलकित को फोन लगाया। 

अंकिता के दोस्त पुष्प ने आरोपियों से की थी बात : 
अंकिता के दोस्त पुष्प ने पुलकित से पूछा- अच्छा ये बताओ कि उसने तुम्हारा फोन क्यों लिया था? इस पर रिसॉर्ट के मालिक पुलकित ने कहा- उसका फोन स्विचऑफ हो गया था। उसे तुमसे बात करनी थी। जब मैंने आपको फोन किया था 9 बजे, जब आपको लास्ट टाइम कॉल किया था. तो उस वक्त अंकिता मेरे साथ ही थी। उसने मेरा फोन मांगा। बाद में जब मैंने उससे फोन देने के लिए कहा तो बोली- मैं आपको मॉर्निंग में फोन दे दूंगी। पुष्प ने रिसॉर्ट के मैनेजर सौरभ से फोन पर पूछा- आप अंकिता के साथ बाहर गए थे तो लौटकर कब आए थे? इस पर सौरभ ने बताया कि हम करीब रात के 9 बजे आ गए थे। पुष्प ने कहा- रात 9 बजे से ही उसका फोन बंद है और अभी तक बंद है। मैटर क्या हुआ है, पहले ये तो बताइए। इस पर सौरभ ने कहा- मैटर कुछ नहीं है, बस थोड़ी अपसेट थी वो। 

अंकिता मर्डर केस: क्या सबूत मिटाने रिसॉर्ट पर चलाया बुलडोजर? अब तक नहीं मिले इन 3 सवालों के जवाब

अपने ही झूठ में फंस गया पुलकित : 
पुलकित ने पुष्प को फोन पर बताया कि वो चारों रात 9 बजे तक रिजॉर्ट लौट आए थे। यहीं पुलकित का पहला झूठ पकड़ा गया। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में ऋषिकेश से रिजॉर्ट वापस आते वक्त स्कूटी और बाइक पर सिर्फ तीन लोग ही थे। अंकिता तस्वीर में कहीं नहीं थी। 

पुलकित आर्य का एक और झूठ : 
पुलकित के मुताबिक, अंकिता का मोबाइल चार्ज नहीं था, इसलिए उसने अपना मोबाइल पूरी रात के लिए उसे दे दिया। रिजॉर्ट में लाइट तो थी, ऐसे में रिजॉर्ट आने के बाद अंकिता अपना फोन चार्ज भी तो कर सकती थी, फिर उसने पुलकित का फोन ही क्यों मांगा?

ऐसे पकड़ा गया एक और कातिल अंकित का झूठ : 
अंकित ने दावा किया कि रिसॉर्ट से लौटने के बाद रात 9 बजे उसी ने अंकिता को उसके कमरे में जाकर खाना दिया था। अब उसने खाना खाया या नहीं ये उसे नहीं पता। अंकित का ये झूठ भी पकड़ा गया। सुबह अंकित ही सबसे पहले पुलकित का मोबाइल लेने अंकिता के कमरे में गया था। कमरे में जब अंकिता का सारा सामान मौजूद था, तो फिर रात को दिए गए खाने की वो थाली भी होनी चाहिए थी। जिसे देख आसानी से मालूम किया जा सकता था कि अंकिता ने खाना खाया या नहीं?

ये भी देखें : 

Ankita Bhandari Murder: अंकिता के पिता को मारने खड़ा हो गया था पुलकित, अब बेटी के हत्यारों के लिए मांगी फांसी

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios