Asianet News HindiAsianet News Hindi

थरूर ने मेनिफेस्टो में किया ब्लंडर, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को नहीं बताया भारत का हिस्सा, मांगी बिना शर्त माफी

शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव के लिए जारी किए गए अपने मेनिफेस्टो में बड़ी गलती की। भारत के नक्शे में जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को देश का हिस्सा नहीं दिखाया गया था। गलती सामने आने पर उन्होंने बिना शर्त माफी मांगी।
 

Apologise Unconditionally Shashi Tharoor On Map Blunder In Manifesto For Congress Polls vva
Author
First Published Sep 30, 2022, 7:13 PM IST

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल किया। इसके बाद उन्होंने कांग्रेस प्रमुख के चुनाव के लिए घोषणापत्र जारी किया। इस घोषणापत्र में उन्होंने ऐसी बड़ी गलती की, जिसके सामने आने पर उन्हें तुरंत "बिना शर्त" माफी मांगनी पड़ी। 

दरअसल, थरूर ने अपने घोषणापत्र में भारत के जिस नक्शे का इस्तेमाल किया उसमें जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को भारत का हिस्सा नहीं दिखाया गया था। सोशल मीडिया पर भारत का गलत नक्शा शेयर करने के चलते जब उन्हें निशाना बनाया जाने लगा तो उन्होंने अपनी गलती सुधारी और सही नक्शा शेयर किया। भाजपा ने इस गलती को लेकर शशि थरूर और कांग्रेस पर निशाना साधा। वहीं, कांग्रेस ने राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा पर भाजपा के हमलों को टालने की कोशिश करते हुए शशि थरूर की गंभीर गलती से खुद को दूर करने की कोशिश की।

जानबूझकर नहीं की गलती
शशि थरूर ने ट्वीट किया कि कोई भी जानबूझकर ऐसी चीजें नहीं करता है। उनकी टीम ने गलती की है। हमने इसे तुरंत ठीक कर दिया। मैं बिना शर्त माफी मांगता हूं। दूसरी ओर सोशल मीडिया यूजर्स ने गलत नक्शा शेयर किए जाने को शर्मनाक बताते हुए शशि थरूर पर जमकर निशाना साधा और उन पर विभाजनकारी एजेंडा अपनाने का आरोप लगाया। एक ट्विटर यूजर ने शशि थरूर से कहा कि क्या आपको नहीं लगता कि आप घोषणापत्र जैसे महत्वपूर्ण दस्तावेज को रिलीज होने से पहले देख सकते थे? यह बड़ा दस्तावेज भी नहीं है। यह मात्र 13 पन्नों का दस्तावेज है।

 

 

यह भी पढ़ें- मल्लिकार्जुन खड़गे ने भरा नामांकन, कांग्रेस अध्यक्ष की रेस में सबसे आगे, थरूर ने कहा- वो पार्टी के पितामह

तीन साल में यह दूसरी बार है जब पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर गलत नक्शे के चलते विवादों में फंसे हैं। दिसंबर 2019 में उन्होंने नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के खिलाफ केरल कांग्रेस के विरोध के बारे में प्रचार सामग्री शेयर की थी। उसमें भी इसी तरह की समस्या थी।

यह भी पढ़ें- गौ हत्यारे के साथ दिखे राहुल गांधी, BJP ने कहा- हिंदुओं के खिलाफ नफरत छिपाने की कोशिश भी नहीं कर रही कांग्रेस

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios