मुंबई. महाराष्ट्र के ठाणे जिले में एक मुस्लिम डिलीवरी ब्वॉय के हाथों से सामान न लेने पर स्थानीय व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस के मुताबिक, मीरा रोड निवासी 51 साल के गजानन को  बुधवार को उसके सृष्टि कॉम्प्लेक्स स्थित घर से गिरफ्तार किया गया था। उनपर एक मुस्लिम डिलीवरी बॉय से किराने का सामान लेने से इनकार करने का आरोप है। उन्हें ठाणे सेशन कोर्ट में पेश किया गया और न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। 

"मैं जान जोखिम में डाल सामान पहुंचा रहा हूं, लेकिन लोग धर्म देख रहे हैं"
यह घटना मंगलवार की है। जब नया नगर निवासी 32 साल के  डिलीवरी ब्वॉय ऑनलाइन किराने की सामान की डिलीवरी कर रहा था। मुस्लिम शख्स ने कहा, मैं अपने जीवन को खतरे में डालकर लोगों के घरों तक सामान पहुंचा रहा हूं। इस कठिन समय में भी लोग धर्म के बारे में सोच रहे हैं। यहा चौंकाने वाला और दुखद है। उन्होंने कहा कि डिलीवर के वक्त उसने मास्क और दस्ताने पहने हुए थे।

सामान लेने से पहले पूछा नाम
पुलिस के मुताबि, मंगलवार की सुबह वह शख्स कुछ सामान लेकर  गजानन चतुर्वेदी के घर पहुंचा। इसके बाद गजानन ने उस शख्स का नाम पूछा। जब उन्हें पता चला कि वह एक मुस्लिम है, तब सामान लेने से मना कर दिया। पुलिस ने आईपीसी की धारा 295 (ए) (जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण किसी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को अपमानित करने के उद्देश्य से उसके धर्म या धार्मिक विश्वासों का अपमान) के तहत मामला दर्ज किया। 

ऑनलाइन किराना पोर्टल में काम करता है डिलीवरी ब्वॉय
डिलीवरी ब्वॉय एक साल से ऑनलाइन किराने के पोर्टल के लिए काम कर रहा है। उसने अपने घर में इस घटना के बारे में बताया, जिसके बाद उसे पुलिस से संपर्क करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि कोरोनो वायरस के कारण बच्चों सहित उनका परिवार उनके लिए (डिलीवरी ब्वॉय) चिंतित हैं, लेकिन उसने कोरोना महामारी में भी लोगों की मदद करने का फैसला किया। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान कई घरों में पार्सल पहुंचा रहा है। हालांकि इससे पहले उन्होंने ऐसा भेदभाव नहीं देखा।