Asianet News HindiAsianet News Hindi

अरुणाचल से अगवा किए युवक को जल्द रिहा करेगा चीन, रिजिजू ने कहा - खराब मौसम की वजह से हुई देरी

Arunachal missing boy : केंद्रीय मंत्री ने बुधवार को गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्वीट कर यह जानकारी साझा की। उन्होंने बताया कि इंडियन आर्मी ने इस संबंध में चीनी पीएलए (PLA) के साथ आज ही हॉटलाइन स्तर पर बातचीत की। पीएलए ने भी इस मामले में सकारात्मक प्रतिक्रिया देते हुए हमारे किशोर को वापस लौटाने का संकेत दिया। 

arunachal missing boy news union minister kiren rijiju told china to release missing boy as soon as possible republic day 2022
Author
New Delhi, First Published Jan 26, 2022, 6:22 PM IST

नई दिल्ली। अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) से पिछले हफ्ते लापता हुए 17 साल के मीराम तारौन (Miram Taron) के बारे में जानकारी मिलने के बाद एक और खबर आई है। केंद्रीय कानून और न्याय मंत्री किरन रिजिजू (Kiren Rijiju) ने बुधवार को बताया कि चीन ने 17 साल के लड़के की रिहाई के संकेत दिए हैं। उन्होंने बताया कि जल्द ही चीन की तरफ से मीराम तारौन की रिहाई की तारीख और समय साझा की जाएगी। रिजिजू ने बताया कि खराब मौसम की वजह से मीराम की वापसी में देरी हुई है। चीन ने इसके लिए जगह का भी सुझाव दिया है। भारत सरकार जल्द उसे वापस लाने पर काम कर रही है।  

पीएलए से हॉट लाइन पर की बात, वापस लौटाने का संकेत
केंद्रीय मंत्री ने बुधवार को गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्वीट कर यह जानकारी साझा की। उन्होंने बताया कि इंडियन आर्मी ने इस संबंध में चीनी पीएलए (PLA) के साथ आज ही हॉटलाइन स्तर पर बातचीत की। पीएलए ने भी इस मामले में सकारात्मक प्रतिक्रिया देते हुए हमारे किशोर को वापस लौटाने का संकेत दिया। 

18 जनवरी को लापता हुआ था मीराम, 23 को मिली खबर 
17 साल का मीराम तारौन (Miram Taron) 18 जनवरी को लापता हो गया था। उस समय चीनी सेना पर मीराम के अपहरण का आरोप गा था, लेकिन चीनी सेना ने इससे इंकार किया था। तारौन के अगवा होने की जानकारी अरुणाचल से भाजपा सांसद तापिर गाओ (Tapir Gao) ने बुधवार को दी थी। उन्होंने कहा था कि पीएलए ने एक किशोर को भारतीय क्षेत्र के भीतर के सिआंग जिले से अगवा कर लिया है। बताया जा रहा था कि चीनी सेना ने उसे सेउंगला इलाके के लुंगटा जोर इलाके से अगवा किया था। गाओ ने तारौन के दोस्त जॉनी यियिंग के हवाले से बताया था कि चीनी सेना उसे अगवा किया है। इसके बाद भारतीय सेना (Indian Army) ने तुरंत पीएलए से संपर्क किया था। सेना ने पीएलए से कहा कि लड़का जड़ीबूटी इकट्ठी करने गया था, लेकिन अपना रास्ता भटक गया है। 23 जनवरी को चीनी सेना ने उसके चीन में होने की सूचना दी। 

विपक्ष ने मोदी सरकार पर साधा था निशाना
इस मामले को लेकर विपक्षी नेताओं ने भी मोदी सरकार पर निशाना साधा था। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने पीएम नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए ट्वीट किया था कि  गणतंत्र दिवस से कुछ दिन पहले भारत के एक भाग्य विधाता का चीन ने अपहरण किया है। हम मीराम तारौन के परिवार के साथ हैं और उम्मीद नहीं छोड़ेंगे, हार नहीं मानेंगे। 

यह भी पढ़ें
अरुणाचल से किडनैप हुआ 17 साल का ‘मीराम तारौन’ मिला, चीनी सेना PLA ने इंडियन आर्मी को दी जानकारी
योगी के बचपन का फोटो ट्वीट कर केंद्रीय मंत्री ने लिखा - तन में पुराने कपड़े, लेकिन मन में जन सेवा का संकल्प

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios