नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना महामारी पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, हालात पर काबू पाने के लिए राज्य सरकार हर संभव कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि 5 जून तक कोरोना मरीजों के लिए 9500 बेड तैयार होंगे। एक ऐप बन गई है अभी उसकी टेस्टिंग चल रही है। सोमवार को उसे लॉन्च करेंगे। उस ऐप में आपको हर एक अस्पताल का डाटा मिलेगा कि किस अस्पताल में कितने बेड और वेंटिलेटर हैं और कितने खाली हैं। 

"हम कोरोना से 4 कदम आगे"
उन्होंने कहा, "कोरोना के केस जरूर बढ़ रहे हैं लेकिन हम कोरोना से चार कदम आगे हैं। उन्होंने कहा कि इस समय दिल्ली में अधिकतर मरीजों का इलाज घर में चल रहा है। अस्पतालों में सिर्फ 2100 मरीज भर्ती हैं।" 

"लॉकडाउन ने कोरोना ठीक नहीं होगा"
अरविंद केजरीवाल ने कहा, आज कोई ये नहीं कह सकता कि एक महीना या दो महीने और लॉकडाउन कर लो तो कोरोना ठीक हो जाएगा। कोरोना रहेगा, अगर कोरोना रहेगा तो कोरोना का इलाज करने का इंतजाम करना पड़ेगा। हमारी पूरी सरकार इस समय कोरोना के मरीज़ों का इलाज करने पर ध्यान दे रही है। 

सीएम केजरीवाल की सबसे बड़ी चिंता
अरविंद केजरीवाल ने कहा, दिल्ली का मुख्यमंत्री होने के नाते मुझे दो चीजों पर चिंता होगी। पहली, अगर ​दिल्ली के अंदर कोरोना की वजह से मौत का आंकड़ा बढ़ने लगे और  दूसरा मान लीजिए कि कोरोना के 10,000 मरीज हैं और हमारे पास 8,000 बेड हैं तो ये हमारे लिए चिंता का विषय है।

5 जून तक 9500 बेड तैयार हो जाएंगे
अरविंद केजरीवाल ने कहा, आज दिल्ली में कोरोना वायरस के 17,386 मामले हैं, इनमें से 2,100 मरीज अस्पताल में हैं। बाकी सब घरों के अंदर है, वो घरों के अंदर इलाज करा रहे हैं। पिछले हफ्ते हमने ऑर्डर जारी कर दिए हैं 5 जून तक दिल्ली में 9,500 बेड तैयार हो जाएंगे। 

एलएनजेपी में सीनियर डॉक्टर संक्रमित
दिल्ली स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण (LNJP) अस्पताल में एक वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी कोरोना वायरस पॉजिटिव आए हैं। इसके अलावा अस्पताल के दो अन्य कर्मचारी भी कोरोना वायरस पॉजिटिव आए हैं। 

किसी ने किया शॉक्ड तो किसी ने रोंगटे खड़े कर दिया...क्लिक करके देखें ऐसे ही वीडियो...

कांच तोड़ चलती कार में कछुआ ने किया अटैक, देखें चौंकाने वाला वीडियो

अपने बेटे को मुसीबत में नहीं देख पाई ये मां, लगा दी जान ताकि बच पाए कलेजा का टुकड़ा

समुद्र किनारे बहती हुई आई 40 फीट के 'दानव' की लाश, हटाने में छूटे पसीने

जन्म के तुरंत बाद मिट्टी में दफनाया जिंदा नवजात, रोने की आवाज से मिली जिंदगी

कोरोना के कारण कोमा में चली गई थी प्रेग्नेंट महिला लेकिन...