Asianet News HindiAsianet News Hindi

ATL स्पेस चैलेंज 2021 हुआ लांच: अपने इनोवेटिव आईडियाज के साथ करें आवेदन, मिलेगा ISRO का सहयोग

यह प्रोग्राम उन शिक्षकों, स्टूडेंट्स के लिए है जो एटीएल लैब्स वाले स्कूल्स से नहीं जुड़े हुए हैं। इस स्पेस चैलेंज के जरिए क्लास 6 से 12 के छात्रों को एक खुला मंच दिया जाता है जहां वे डिजिटल युग में स्पेस टेक्नोलॉजी की समस्याओं का हल खोज सकें, नए नए इनोवेशन करने में सक्षम बन सकें। 

ATL Space Challenge 2021 Launched students having innovative ideas, Know how to participate and apply for project
Author
New Delhi, First Published Sep 10, 2021, 7:18 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। अटल इनोवेशन मिशन (AIM), NITI Aayog ने भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) और केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) के सहयोग से देश भर के सभी स्कूली छात्रों के लिए ATL स्पेस चैलेंज 2021 को लॉन्च किया है।

क्या है एटीएल स्पेस चैलेंज?

यह प्रोग्राम उन शिक्षकों, स्टूडेंट्स के लिए है जो एटीएल लैब्स वाले स्कूल्स से नहीं जुड़े हुए हैं। इस स्पेस चैलेंज के जरिए क्लास 6 से 12 के छात्रों को एक खुला मंच दिया जाता है जहां वे डिजिटल युग में स्पेस टेक्नोलॉजी की समस्याओं का हल खोज सकें, नए नए इनोवेशन करने में सक्षम बन सकें। 

एटीएल स्पेस चैलेंज 2021 विश्व अंतरिक्ष सप्ताह 2021 के साथ जोड़कर लांच किया गया है। विश्व अतंरिक्ष सप्ताह हर साल चार से दस अक्टूबर तक मनाया जाता है जिसमें अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी के योगदान का जश्न वैश्विक स्तर पर होता है। 

युवाओं में बढ़ेगी इनोवेशन की ललक

स्पेस चैलेंज लॉन्च के दौरान बोलते हुए मिशन निदेशक एआईएम डॉ चिंतन वैष्णव ने कहा कि इस चैलेंज का उद्देश्य युवा स्कूली छात्रों के बीच अंतरिक्ष क्षेत्र में कुछ ऐसा बनाने के लिए इनोवेशन में सक्षम बनाना है जो न केवल उन्हें अंतरिक्ष के बारे में सीखने में मदद करेगा बल्कि कुछ ऐसा तैयार करेगा जो अंतरिक्ष कार्यक्रम कर सके। 

उन्होंने कहा कि हम इसरो और सीबीएसई के आभारी हैं जिन्होंने इसे एक बड़ी सफलता बनाने के लिए हमारे साथ भागीदारी की है। उन्होंने बताया कि टॉप लिस्ट में आने वाले छात्रों को चैलेंज समापन के बाद प्राइज भी दिया जाएगा। 

निदेशक क्षमता निर्माण कार्यक्रम कार्यालय (इसरो) डॉ सुधीर कुमार ने छात्रों के लिए इस तरह की चुनौती शुरू करने पर अत्यधिक खुशी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि हमें इस चुनौती को शुरू करने के लिए एआईएम और सीबीएसई के साथ सहयोग करने पर गर्व है जहां छात्र रचनात्मक स्वतंत्रता के साथ अंतरिक्ष का पता लगा सकते हैं। हम हर साल इस चुनौती को शुरू करने की उम्मीद कर रहे हैं।

ऐसे करें आवेदन

स्पेस चैलेंज के लिए आवेदन एआईएम ऑनलाइन पोर्टल पर जमा किया जा सकता है। प्रत्येक टीम को अपनी रुचि और समझ के आधार पर एक प्रोजेक्ट का चयन करना चाहिए जो कि किसी एक स्पेस चैलेंज थीम के अंतर्गत आता है।

इन डॉक्यूमेंट्स के बिना नहीं होगा आवेदन

ऑनलाइन आवेदन फॉर्म जमा करने में आपको अपने इनोवेशन व प्रोजेक्ट का विवरण देना होगा। एक वीडियो सबमिशन (capturing a 360-degree view of the working prototype/ solution)  भी देना होगा।

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios