Asianet News HindiAsianet News Hindi

बेंगलुरु में जाम से आईटी कंपनियों को 225 करोड़ रुपये की चपत, ORR में 5 घंटे फंसे रहे कर्मचारी

आउटर रिंग रोड एसोसिएशन ने अपने पत्र में कहा कि आउटर रिंग रोड क्षेत्र के कृष्णराजपुरम से बेंगलुरु सेंट्रल सिल्क बोर्ड क्षेत्र तक आधा मिलियन से अधिक लोग कार्यरत हैं। 17 किलोमीटर लंबा यह मार्ग एक लाख से अधिक लोगों को परोक्ष या प्रत्यक्ष रोजगार प्रदान कर रहा है।

Bengaluru IT companies 225 crore rupees loss due to traffic jam, employees stuck in traffic for 5 hours, DVG
Author
First Published Sep 4, 2022, 3:40 PM IST

IT companies loss due to traffic jam: कर्नाटक में जाम की समस्या लाइलाज हो चुकी है। बेंगलुरु में सिर्फ पांच घंटे के जाम की वजह से आईटी कंपनियों को 225 करोड़ रुपये का नुकसान झेलना पड़ा है। 30 अगस्त को बेंगलुरु आउटर रिंग रोड पर बेइंतहा जाम लगा था। करीब पांच घंटे तक लोग इस जाम में फंसे रहे। इस जाम में आईटी कंपनियों के कर्मचारियों के फंसे होने की वजह से वह काफी लेट से अपने ऑफिस रिपोर्ट कर सके। उनके ऑफिस देरी से पहुंचने की वजह से आईटी कंपनियों को सवा दो सौ करोड़ रुपये का नुकसान महज पांच घंटे में ही झेलना पड़ा है।

आउटर रिंग रोड कंपनीज एसोसिएशन का सीएम को लेटर

जाम की वजह से कंपनियां नुकसान से परेशान हैं। आउटर रिंग रोड कंपनीज ऐसोसिएशन ने कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई को पत्र लिखकर अपनी समस्या से अवगत कराया है। एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री को लिखे लेटर में बताया है कि बेंगलुरू आईटी कंपनियों को 30 अगस्त को 225 करोड़ का नुकसान हुआ है। यह नुकसान उनके कर्मचारियों के लगभग पांच घंटे तक ट्रैफिक में फंसे रहने की वजह से उठाना पड़ा है। एसोसिएशन ने लिखा है कि ओआरआर का खराब इंफ्रास्ट्रक्चर अब संकट को बढ़ा रहा है। यह बेहद नुकसानदायक स्थिति में पहुंच चुका है। लेटर में बेंगलुरु के बुनियादी विकास को नजरअंदाज करने पर रोष प्रकट किया गया है। 

बेंगलुरु के विकास को नजरअंदाज करना बेहद चिंताजनक

आउटर रिंग रोड एसोसिएशन ने अपने पत्र में कहा कि आउटर रिंग रोड क्षेत्र के कृष्णराजपुरम से बेंगलुरु सेंट्रल सिल्क बोर्ड क्षेत्र तक आधा मिलियन से अधिक लोग कार्यरत हैं। 17 किलोमीटर लंबा यह मार्ग एक लाख से अधिक लोगों को परोक्ष या प्रत्यक्ष रोजगार प्रदान कर रहा है। राज्य की अर्थव्यवस्था में बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे इस क्षेत्र के इंफ्रास्ट्रक्चरल डेवलपमेंट पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। यह भयावह है कि इस क्षेत्र में बुनियादी ढांचे के विकास पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। बेंगलुरू के बुनियादी ढांचे का हालिया पतन अब एक वैश्विक चिंता है और यह शहर के विकास पर भी सवाल खड़ा करता है। एसोसिएशन ने अपने पत्र में यह आशंका जताई है कि बेंगलुरु के विकास की इसी तरह से अनदेखी होती रही तो यहां कार्यरत आईटी कंपनियां किसी और जगह पलायन को मजबूर होंगी।

मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने दिया आश्वासन

सीएम बसवराज बोम्मई ने बेंगलुरु के आउटर रिंग रोड एरिया के इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर आश्वासन दिया है। उन्होंने इस क्षेत्र का निरीक्षण कर यहां होने वाले जलजमाव आदि सहित समस्त नागरिक मूलभूत सुविधाओं को बेहतर करने का आदेश दिया है। सीएम ने इस क्षेत्र में बरसाती पानी वाली नालियों की सफाई, यहां हुए अतिक्रमण को हटाने का भी निर्देश दिया है।

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios