पटना. बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय (Gupteshwar Pandey) ने मंगलवार को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (VRS) ले लिया। उन्होंने वीआरएस के लिए आवेदन दिया था जिसको तुरंत ही स्वीकृति मिल गई। यह कदम उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कहने पर अपनी राजनीतिक पारी शुरू करने के लिए उठाया है। केंद्र ने उनके वीआरएस को स्वीकार कर लिया। अब वे जल्द ही विधिवत रूप से राजनीतिक पारी शुरू करने की घोषणा कर सकते हैं। जानकारों की मानें तो वह विधानसभा चुनाव लड़ेंगे।

सूत्रों की मानें तो बिहार सरकार ने गुप्तेश्वर पांडेय के वीआरएस का आवेदन केंद्र को मंगलवार की शाम को ही भेजा था। DGP के इस्तीफ़े और वीआरएस की ख़बर पिछले कई दिनों से चल रही थी। दो दिन पहले ही  गुप्तेश्वर पांडेय  ने अपने गृह ज़िले बक्सर का दौरा किया था। वे वहां के जनता दल यूनाइटेड के ज़िला अध्यक्ष से भी मिले थे। हालांकि उन्होंने अपने चिरपरिचित अंदाज़ में चुनाव और राजनीति में शामिल होने की खबरों को अफ़वाह बताया था। उन्होंने तो यहां तक कहा था कि संवैधानिक पद पर बैठा व्यक्ति चुनाव कैसे लड़ सकता है।

CM नितीश ने सबके सामने दी थी चुनाव लड़ने की सलाह 
इस बार भी शिक्षक दिवस पर सबके सामने नीतीश कुमार ने उनसे चुनाव की तैयारी करने के लिए कहा था। उस कार्यक्रम से निकलकर पांडेय सीधे खादी के कपड़े खरीदने के लिए खादी ग्राम उद्योग की दुकान में गए थे जो काफ़ी चर्चा का विषय रहा था। बताया जा रहा है कि CM नीतीश कुमार से हरी झंडी मिलने के बाद अब वे राजनीति में पदार्पण ही नहीं कर रहे बल्कि जल्द ही चुनावी मैदान में कूदने वाले हैं।