पटना. भाजपा ने बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को राज्यसभा उपचुनाव में प्रत्याशी बनाया। यह सीट केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन के बाद खाली हुई थी। माना जा रहा है कि सुशील मोदी को केंद्र में बड़ी जिम्मेदारी भी दी जा सकती है। 

दरअसल, बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए को बहुमत मिला था। हालांकि, भाजपा ने इस बार सुशील कुमार मोदी को डिप्टी सीएम पद नहीं दिया था। उनकी जगह तारकिशोर और रेणु देवी को उप मुख्यमंत्री बनाया गया है। 

 

 

तीन बार उप मुख्यमंत्री रहे सुशील मोदी
सुशील कुमार मोदी बिहार में भाजपा का बड़ा चेहरा माने जाते हैं। वे 2005 से 2020 तक बिहार में उप मुख्यमंत्री रहे। सुशील कुमार मोदी जेपी आंदोलन से भी जुड़े रहे। इमरजेंसी में वे कई बार जेल भी गए। 1996 से 2004 तक मोदी बिहार में विपक्ष के नेता भी रहे। 2004 में भागलपुर से भाजपा सांसद भी रहे।