Asianet News Hindi

जानिए चीन की किस हरकत के बाद आ गई थी फायरिंग की नौबत...फिर कैसे दुम दबाकर भागे चीनी सैनिक?

भारत और चीन के बीच सीमा विवाद चरम पर है। चीनी मीडिया की ओर से दावा किया जा रहा है कि पैंगोंग झील के दक्षिण किनारे पर भारत और चीन के सैनिकों के बीच फायरिंग हुई। यह दावा चीनी सेना के वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता के हवाले से किया जा रहा है।

China claims Indian troops crossed LAC and firing near Pangong Tso KPP
Author
Ladakh, First Published Sep 8, 2020, 9:36 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. भारत और चीन के बीच सीमा विवाद चरम पर है। चीनी मीडिया की ओर से दावा किया जा रहा है कि पैंगोंग झील के दक्षिण किनारे पर भारत और चीन के सैनिकों के बीच फायरिंग हुई। यह दावा चीनी सेना के वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता के हवाले से किया जा रहा है। उनके मुताबिक, भारतीय जवानों ने एलएसी पार करने के बाद फायरिंग भी की। 

चीनी मीडिया के मुताबिक, भारतीय सेना ने शेनपाओ इलाके में एलएसी पार की। इस दौरान जब चीनी सेना ने भारतीय जवानों से बातचीत करने की कोशिश की तो उन्होंने हवा में फायरिंग की। हालांकि, अब तक भारतीय सेना का कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है। 

क्या हुआ था 7 सितंबर की रात को?
7 सितंबर की रात दोनों देशों के बीच फायरिंग की खबर है। बताया जा रहा है कि चीनी सैनिक भारतीय इलाके को कब्जे में लेने की कोशिश कर रहे थे। वे भारतीय सेना की लोकेशन के करीब पहुंच गए थे। जब भारतीय सेना ने  उनसे पीछे हटने के लिए कहा, तो वे नहीं माने। इसके बाद भारतीय सेना को हवाई फायरिंग करनी पड़ी।  

दोनों के बीच कई राउंड फायरिंग हुई
बताया जा रहा है कि दोनों देशों के बीच कई राउंड फायरिंग हुई। चीनी सेना की ओर से भी फायरिंग की गई। हालांकि, अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि पहले किसने फायरिंग की। हालांकि, फायरिंग की घटना के बाद चीनी सैनिक अपनी लोकेशन पर लौट गए। हालात सामान्य बताए जा रहे हैं। 

मई से चल रहा तनाव
भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में मई से सीमा को लेकर विवाद चल रहा है। दोनों देशों की सेनाओं के बीच कई बार हाथापाई भी हो चुकी है। 15 जून को भारत और चीन के बीच हिंसक झड़प हुई थी। इसमें 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। वहीं, 40 चीनी सैनिक भी मारे गए थे। हालांकि, चीन ने मारे गए अपने सैनिकों की संख्या की जानकारी नहीं दी। यह 45 साल में पहला मौका था, जब भारत और चीन विवाद में किसी सैनिक की जान गई।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios