कांग्रेस ने चुनावी राज्यों के प्रभारियों को हटाया, नए इंचार्ज तत्काल प्रभाव से नियुक्त किए गए, देखें लिस्ट

| Dec 06 2022, 12:10 AM IST

कांग्रेस ने चुनावी राज्यों के प्रभारियों को हटाया, नए इंचार्ज तत्काल प्रभाव से नियुक्त किए गए, देखें लिस्ट
कांग्रेस ने चुनावी राज्यों के प्रभारियों को हटाया, नए इंचार्ज तत्काल प्रभाव से नियुक्त किए गए, देखें लिस्ट
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

कांग्रेस अपने राज्यों में लगातार गुटबाजी से जूझ रही है। कई राज्यों में गुटबाजी से संगठन की स्थिति खराब हो चुकी है। छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस की सत्ता है लेकिन यहां भी गुटबाजी चरम पर है।

State Assembly elections: कांग्रेस ने आगामी विधानसभा चुनाव वाले राज्यों में व्यापक फेरबदल किए हैं। पार्टी ने चुनाव वाले राज्यों के प्रभारियों को बदल दिया है। राष्ट्रीय पार्टी के नए अध्यक्ष चुने जाने के बाद यह बड़ा बदलाव है। तीन राज्यों के वर्तमान प्रभारियों को हटा दिया गया है और उनकी जगह पर नए प्रभारियों को नियुक्त किया गया है।

किसको किस राज्य का प्रभारी किया गया नियुक्त?

Subscribe to get breaking news alerts

कांग्रेस ने छत्तीसगढ़, राजस्थान और हरियाणा के प्रभारियों को बदल दिया है। छत्तीसगढ़ और राजस्थान में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। छत्तीसगढ़ का प्रभार अब पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी शैलजा देखेंगी। उनको छत्तीसगढ़ का प्रभारी महासचिव बनाया गया है। शैलेजा को पीएल पुनिया को हटाकर प्रभार दिया गया है। पंजाब के पूर्व मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा को राजस्थान का प्रभारी बनाया गया है। रंधावा को यह प्रभार दिल्ली कांग्रेस के नेता अजय माकन को हटाकर दिया गया है। माकन काफी दिनों से राजस्थान के प्रभारी थे। इसी तरह हरियाणा के प्रभारी विवेक बंसल को भी हटा दिया गया है। विवेक बंसल की जगह हरियाणा का प्रभारी राज्यसभा सांसद शक्ति सिंह गोहिल को बनाया गया है। 

तीनों राज्यों में संगठन को मजबूत करने में जुटी कांग्रेस

कांग्रेस अपने राज्यों में लगातार गुटबाजी से जूझ रही है। कई राज्यों में गुटबाजी से संगठन की स्थिति खराब हो चुकी है। छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस की सत्ता है लेकिन यहां भी गुटबाजी चरम पर है। छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल के खिलाफ पार्टी का एक गुट लामबंद है। हालांकि, कई बार बगावत को शीर्ष नेतृत्व ने समझा-बुझाकर शांत कर दिया था। इसी तरह राजस्थान में पार्टी में खींचतान तो पूरा देश देख चुका है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बीच तल्खियां चुनाव में काफी खतरनाक साबित हो सकती हैं। ऐसे में पार्टी ने वर्तमान प्रभारियों को हटाकर स्थितियों को नियंत्रित करने के लिए अनुभवी प्रभारियों को भेजा है।

कांग्रेस के प्रशासन प्रभारी के साथ अटैच हुए सप्पल

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने पार्टी के प्रशासनिक प्रभारी पवन कुमार बंसल के साथ गुरदीप सिंह सप्पल को अटैच किया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन कुमार बंसल, पार्टी के कोषाध्यक्ष होने के साथ साथ प्रशासन का भी प्रभार संभाल रहे हैं। अब उनकी मदद के लिए गुरदीप सिंह सप्पल होंगे।

यह भी पढ़ें:

बिना हिजाब वाली महिला को बैंकिंग सर्विस देने पर बैंक मैनेजर की नौकरी गई, गवर्नर के आदेश के बाद हुआ बर्खास्त

महिलाओं के कपड़ों पर निगाह रखती थी ईरान की मॉरल पुलिस, टाइट या छोटे कपड़े पहनने, सिर न ढकने पर ढाती थी जुल्म

 

Related Stories