नई दिल्ली. भारत में पिछले 23 दिन से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है। इस मुद्दे पर अब कांग्रेस ने सरकार को घेरने का मन बना लिया है। लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के चलते कांग्रेस सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रही है। पूरे देश में कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता अपने अपने तरीके से केंद्र सरकार का विरोध कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर सरकार के खिलाफ हर एक मिनट में 1 पोस्ट की जा रही है।  

देश में 23 दिनों में पेट्रोल के दाम 9.17 रु और डीजल 11.14 प्रति लीटर बढ़े हैं। ऐसे में कांग्रेस इस मुद्दे को गंवाना नहीं चाहती है। कांग्रेस के साइबर सेल ने इस कैंपेन के लिए चार दिन से तैयारी कर रखी थी।

राहुल गांधी ने की अभियान की शुरुआत
कांग्रेस की ओर से इस अभियान की शुरुआत राहुल गांधी ने की। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से लिखा, पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ने से परेशान लोगों के वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर करें और उनकी आवाज सरकार तक पहुंचाएं।

इस अभियान के तहत कांग्रेस ने सुबह 5 बजे से ही व्हाट्सएप ग्रुप्स के जरिए समर्थकों को एक्टिव रहकर फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर विरोध प्रदर्शन करने के लिए कहा था। 

 


कंटेंट भी पहले से किया तैयार
कांग्रेस के पदाधिकारियों से कहा गया है कि वे दिन भर एक्टिव रहकर इस मुद्दे पर सरकार को लगातार घेरते रहें। कांग्रेस की साइबर सेल ने भी विशेष कंटेंट तैयार कराया है। इस दौरान भाजपा के नेताओं के पुराने भाषण, फोटो, और भाजपा को समर्थन देने वाले फिल्मी सितारों के बयानों को दोबारा शेयर कर निशाना साधना है।