Asianet News HindiAsianet News Hindi

राहुल का आरोप- राशन कार्ड वालों को तिरंगा खरीदने के लिए किया जा मजबूर, सरकार ने कहा- नहीं दिया ऐसा निर्देश

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने आरोप लगाया है कि भाजपा सरकार गरीबों को तिरंगा झंडा खरीदने के लिए विवश कर रही है। भाजपा सरकार गरीबों के स्वाभिमान पर हमला कर रही है।  
 

Congress leader Rahul Gandhi alleges ration card holders forced to buy national flag vva
Author
New Delhi, First Published Aug 10, 2022, 10:09 PM IST

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने बुधवार को आरोप लगाया कि दुकानदारों द्वारा राशन कार्ड धारकों को राष्ट्रीय ध्वज खरीदने के लिए मजबूर किया जा रहा है। उन्होंने  भाजपा पर राष्ट्रवाद बेचने और गरीबों के स्वाभिमान को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया। 

सरकार ने आरोप का खंडन किया है और कहा है कि इस तरह के कोई निर्देश जारी नहीं किए गए हैं। प्रेस सूचना ब्यूरो ने ट्विटर पर कहा कि ऐसा कोई निर्देश नहीं दिया गया है। सरकारी आदेशों का उल्लंघन करने और तथ्यों को गलत तरीके से प्रस्तुत करने के लिए एक गलत राशन की दुकान को निलंबित कर दिया गया है। गौरतलब है कि एक फेसबुक पोस्ट में राहुल गांधी ने कहा कि तिरंगा हमारा गौरव है और यह हर भारतीय के दिल में बसता है। राष्ट्रवाद कभी बेचा नहीं जा सकता। यह शर्मनाक है कि राशन देते समय गरीबों को तिरंगे के लिए 20 रुपए खर्च करने के लिए कहा जा रहा है।

भाजपा सरकार कर रही गरीबों के स्वाभिमान पर हमला
राहुल गांधी ने कहा कि तिरंगा झंडा के साथ-साथ भाजपा सरकार हमारे देश के गरीबों के स्वाभिमान पर भी हमला कर रही है। पूर्व कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि उन्होंने एक वीडियो साझा किया है, जिसमें कथित तौर पर कुछ राशन कार्ड धारकों को झंडा खरीदने के लिए 20 रुपए का भुगतान करने के लिए मजबूर करने की शिकायत की गई थी।

यह भी पढ़ें- कांग्रेस पर नरेंद्र मोदी ने कसा तंज, काला जादू और काले कपड़े से नहीं होगा आपके बुरे दिनों का अंत

इससे पहले दिन में भाजपा सांसद वरुण गांधी ने भी आरोप लगाया कि राशन कार्ड धारकों को राशन लेने के लिए राष्ट्रीय ध्वज खरीदने के लिए मजबूर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अगर आजादी की 75वीं वर्षगांठ का जश्न गरीबों पर बोझ बन जाए तो यह दुर्भाग्यपूर्ण होगा।

यह भी पढ़ें- शपथ लेने के बाद नीतीश ने BJP को दी चुनौती, 2014 में जीत गए, 2024 की करिए चिंता

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios