Asianet News Hindi

यास समीक्षा बैठक में देरी से आने के विवाद पर ममता का जवाब-'मैं नहीं, प्रधानमंत्री 20 मिनट की देरी से आए थे'

शुक्रवार को बंगाल में प्रधानमंत्री द्वारा यास की समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के देरी से पहुंचने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। जब इस मामले में ममता की निंदा होने लगी, तब उन्होंने मीडिया के सामने आकर सफाई दी। ममता ने कहा कि वे नहीं, बल्कि प्रधानमंत्री खुद 20 मिनट की देरी से आए, इसलिए उन्हें इंतजार करना पड़ा। इस मामले में देरी से पहुंचे मुख्य सचिव का बंगाल से ट्रांसफर कर दिया गया है।

Controversy over Prime Minister review meeting on Cyclone Yaas kpa
Author
Kolkata, First Published May 29, 2021, 3:55 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कोलकाता, पश्चिम बंगाल. चक्रवाती तूफान यास से हुए नुकसान का आकलन करने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ओडिशा और पश्चिम बंगाल के दौरे पर थे। कहा गया कि बंगाल में समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी करीब 30 मिनट की देरी से पहुंचीं।  जब इस मामले में ममता की निंदा होने लगी, तब उन्होंने मीडिया के सामने आकर सफाई दी। ममता ने कहा कि वे नहीं, बल्कि प्रधानमंत्री 20 मिनट की देरी से आए, इसलिए उन्हें इंतजार करना पड़ा।

ममता बनर्जी ने दी सफाई
ममता बनर्जी ने कहा कि उन्हें सूचना दी गई थी कि मोदी अभी नहीं पहुंचे हैं। इसलिए उन्हें खुद 20 मिनट इंतजार करना पड़ा। ममता ने कहा कि वे खुद तूफान प्रभावित इलाकों के हवाई सर्वेक्षण के लिए निकली थीं। उनके दौरे की भी प्रशासनिक बैठकें पहले से तय थीं। प्रधानमंत्री का कार्यक्रम देरी से बना। इसलिए वे पीएम को चक्रवात से संबंधी रिपोर्ट सौंपकर उनसे अनुमति लेकर वहां से चली गई थीं।

जरूरी नहीं कि हर बार प्रधानमंत्री को रिसीव किया जा सके
ममता ने यह भी कहा कि यह जरूरी नहीं कि हर बार प्रधानमंत्री को रिसीव किया जा सके। बता दें कि पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय भी मीटिंग में देरी से पहुंचे थे। ममता के इस रवैये को लेकर राज्यपाल जगदीप धनखड़, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कड़ी आलोचना की थी। शुक्रवार शाम को अमित शाह ने एक ट्वीट किया था। इसके बाद मुख्य सचिव को बंगाल से प्रतिनियुक्ति पर दिल्ली बुला लिया गया।

तृणमूल सांसद का विवादास्पद बयान
इस मामले में तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा ने ममता बनर्जी के बचाव में विवादास्पद बयान दिया है। उन्होंने कहा कि 30 मिनट की देरी से इतना हंगामा क्यों मचा है? भारत के लोगों ने तो 7 सालों तक 15 लाख रुपए का इंतजार किया है। एटीएम के बाहर(नोटबंदी) भी लंबी लाइनों में खड़े रहे। वैक्सीन के लिए भी इंतजार किया। थोड़ा आप भी इंतजार कर लीजिए कभी-कभी।

 

यह भी पढ़ें-PM की समीक्षा बैठक में लेट पहुंचने वाले CS का ट्रांसफर, TMC सांसद ने कसा तंज-'आप भी इंतजार कर लीजिए कभी-कभी'

यास की समीक्षा बैठक: PM ने ओडिशा को दी 500 करोड़ की तत्काल मदद, बंगाल-झारखंड को भी मिलेगी इतनी ही राशि

यास: ओडिशा के CM ने पेश की मिसाल, PM से कहा-'देश कोरोना से जूझ रहा, इसलिए नहीं चाहिए आर्थिक मदद'

आज लोकतांत्रिक इतिहास का सबसे काला दिन, ममता ने साबित किया बंगाल से कुछ लेना देना नहीं: सुवेन्दु

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios