Asianet News Hindi

अफसरों के साथ बैठक: पीएम मोदी बोले- आप कोरोना के खिलाफ जंग में फील्ड कमांडर हो, आपकी भूमिका अहम

कोरोना संक्रमण की मौजूदा स्थिति और अगली रणनीति तय करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 राज्यों के कलेक्टरों और फील्ड अफसरों से चर्चा की। इस दौरान पीएम मोदी ने अफसरों से कहा, कोरोना के खिलाफ इस जंग में आप अहम भूमिका निभा रहे हो। एक तरह से आप लोग इस जंग में फील्ड कमांडर हो। 

Corona pandemic review meeting, discussion with the Prime Minister and field officers from 10 states kpa
Author
New Delhi, First Published May 18, 2021, 8:40 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना संक्रमण की मौजूदा स्थिति और अगली रणनीति तय करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 राज्यों के कलेक्टरों और फील्ड अफसरों से चर्चा की। इस दौरान पीएम मोदी ने अफसरों से कहा, कोरोना के खिलाफ इस जंग में आप अहम भूमिका निभा रहे हो। एक तरह से आप लोग इस जंग में फील्ड कमांडर हो। पीएम ने कहा, फील्ड कमांडर बड़ी योजना को मूर्त रूप देता है, जमीन पर लड़ाई लड़ता है और परिस्थिति के अनुसार निर्णय लेता है। 

पीएम मोदी ने कहा, जिन लोगों को आज बात करने का मौका नहीं मिला, उनके पास भी बहुत कुछ होगा। मेरा आपसे आग्रह है कि आपको लगता है कि जो चीज आपने अच्छी की है उसे मुझे लिखकर जरूर भेजिए। इसका अन्य जिलों में कैसे उपयोग हो मैं इसकी जरूर चिंता करूंगा। आपकी मेहनत और इनोवेशन देश के काम आनी चाहिए।

आपका जिला जीता, तो देश की जीत होगी- पीएम
प्रधानमंत्री ने कहा, देश के हर जिले में कई चुनौतियां हैं। आप अपने जिले की चुनौतियों को काफी अच्छे से समझते हैं। जब आपका जिला जीत जाएगा, यह देश की जीत होगी। अगर आपका जिला कोरोना को हरा देता है, तो देश भी ऐसा कर पाएगा। 

पीएम के संबोधन की बड़ी बातें

- मोदी ने कहा, पिछले साल हमने फार्मिंग सेक्टर को बंद नहीं किया था। मैं यह देखकर आश्चर्यचकित था कि कैसे खेत पर किसान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे थे। हमारे गांव सूचना को समझ लेते हैं और अपनी आवश्यकता के अनुसार इसमें संशोधन करते हैं। यही गांवों की ताकत है। 

- पीएम ने कहा, इस वायरस के खिलाफ लड़ाई लोकल कंटेनमेंट जोन, आक्रामक टेस्टिंग और सही और पूरी जानकारी लोगों तक पहुंचाना है।  

- पीएम ने कहा, वायरस के खिलाफ हथियार हैं लोकल कंटेनमेंट जोन, एग्रेसिव टेंस्टिंग और लोगों तक सही और पूरी जानकारी। कालाबाजारी पर लगाम हो, ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई हो या फ्रंटलाइन वर्कर्स का मोरल हाई रखकर उन्हें मोबलाइज करना हो फील्ड कमांडर के रूप में आपके प्रयास जिले को मजबूती देते हैं। 

- बड़े पैमाने पर कोरोना वैक्सीन की आपूर्ति बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय वैक्सीनेशन की प्रणाली और प्रक्रिया को सुव्यवस्थित कर रहा है। अगले 15 दिनों का शेड्यूल राज्यों को पहले से देने का प्रयास किया जा रहा है। 

- पीएम मोदी ने कहा- दूसरी लहर में ग्रामीण और दूरस्थ क्षेत्र पर ध्यान देने की जरूरत। हमें गांव-गांव में जागरूता भी बढ़ानी और उन्हें बेहतर इलाज की सुविधाओं से भी जोड़ना है। हमारी जिम्मेदारी संक्रमण को रोकने से फैलने की भी है। ये तभी संभव है जब हमें संक्रमण के स्केल की सही जानकारी होगी।

- पीएम ने कहा, हाल ही में कोरोना केसों की संख्या में कुछ राज्यों में कमी और कुछ राज्यों में उछाल आया है। जैसे जैसे केस घट रहे हैं, हमें और सावधान रहने की जरूरत है। मैं बैठकों में सभी से अपील कर रहा हूं कि हमारी लड़ाई हर एक जिंदगी को बचाने के लिए है। 

- उन्होंने कहा, पीएम केयर्स के माध्यम से देश के हर जिले के अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट्स लगाने पर तेजी से काम किया जा रहा है।कई अस्पतालों में ये प्लांट काम करना शुरु भी कर चुके हैं। जिन जिलों को ये प्लांट आवंटित होने वाले हैं, वहां जरूरी तैयारी पहले से पूरी हों, ताकि ये प्लांट जल्द लग सके।

- वैक्सीनेशन कोरोना से लड़ाई का एक सशक्त माध्यम है, इसलिए इससे जुड़े हर भ्रम को हमें मिलकर दूर करना है।

- पीएम मोदी ने कहा, हमें सारी चुनौतियों के बीच समाज के सबसे निचले छोर पर खड़े व्यक्ति का चेहरा ध्यान में रखते हुए काम करना है। उसका कष्ट दूर हो और उसे मदद मिले हमें ऐसी व्यवस्थाओं को और मजबूत करना है।

- पीएम ने कहा, हमें संक्रमण को भी रोकना है और दैनिक जीवन से जुड़ी जरूरी सप्लाई को भी बेरोकटोक चलाना है। इसलिए स्थानीय स्तर पर कंटेनमेंट के लिए जो भी गाइडलाइन जारी की गई हैं उनका पालन कराते समय इस पर भी गौर करना है कि गरीब या किसी भी नागरिक को कम से कम परेशानी हो।

देश के सबसे संक्रमित जिलों के कलेक्टर्स से की बात
मीटिंग में गृहमंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे। कोरोना संक्रमण पर पूरी तरह से काबू करने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछले कई दिनों से खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं। यह मीटिंग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई। इस दौरान पीएम मोदी कोरोना से निपटने में उनके अनुभवों को जाना। ये जिले देश के सबसे संक्रमित जिलों में से हैं। बता दें कि कोरोना संक्रमण रोकने चल रही कोशिशें अब असर दिखा रही हैं। पिछले 24 घंटे में 2.63 लाख केस आए हैं, जबकि 4.22 लाख लोग रिकवर हुए हैं। अब सारा ध्यान मौतें कम करने पर है। यह औसतन रोज 4000 के ऊपर हो रही हैं। पिछले 24 घंटे में 4334 लोगों की मौत हुई।

अच्छी पहलों को साझा करेंगे अफसर
पीएम मोदी के साथ इस चर्चा में अफसरों ने अपने अच्छे कदमों को साझा किया। इसके अलावा अर्ध शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के खिलाफ जंग को जारी करने के लिए सुझाव और सिफारिशें भी सामने आईं। 

इन राज्यों के अफसर हुए शामिल
कर्नाटक, बिहार, असम, चंडीगढ़, तमिलनाडु, उत्तराखंड, मध्यप्रदेश, गोवा, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली के अफसर इस बैठक में शामिल हुए।  

 

pic.twitter.com/n9oNhzxose

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios