नई दिल्ली. देशभर में आज से कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू किया जा चुका है। इसी बीच हरियाणा के कैथल में कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम के दौरान मौके पर आने वाले स्थानीय बीजेपी विधायक लीलाराम का किसानों ने विरोध किया। दरअसल, भारतीय किसान यूनियन से जुड़े किसानों ने उनका विरोध किया। इतना ही नहीं उन्होंने ये भी मांग की कि कोरोना वैक्सीन सबसे पहले हरियाणा सरकार के मंत्रियों, विधायकों और अन्य राजनेताओं को लगाई जाए। इसके बाद बाकी के आम लोगों को ये टीका दिया जाए।  

लोगों ने कर दिया वैक्सीनेशन प्रोग्राम को रद्द

यही नहीं, लोकल लोगों ने कोरोना वैक्सीन और अन्य मेडिकल सामान वापस भिजवा दिया है। उन्होंने वैक्सीनेशन प्रोग्राम को रद्द कर दिया है। स्वास्थ्यकर्मियों को भी वैक्सीनेशन सेंटर से भगा दिया गया है। गौरतलब है कि विधायक लीलराम मौके पर पहुंचे, लेकिन ग्रामीणों ने मांग की कि सबसे पहले स्थानीय विधायक लीलाराम को ही ये वैक्सीन लगाई जाए। 

यह भी पढ़ें: कोवैक्सीन लगवाने पर अगर किसी व्यक्ति पर बुरा प्रभाव हुआ तो कंपनी उसे मुआवजा देगी

1 करोड़ 60 लाख कर्मचारियों को दिया जाएगा टीका

गौरतलब है कि आज यानी की 16 जनवरी से देशभर में कोरोना वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू किया गया। सबसे पहले एक करोड़ 60 लाख कर्मचारियों को टीका दिया जाएगा, जो जरूरी सावओं से जुड़े हैं। हेल्थकेयर वर्कर्स के अलावा 4,31,241 सुरक्षाकर्मी, 1,03,66,219 सोशल मीडिया/रुरल वॉरियर्स, 1,05,731 पोस्ट डिलीवरी वॉरियर्स शामिल हैं।

वैक्सीनेशन अभियान के लिए सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में कुल 3006 वैक्सीनेशन सेंटर्स बनाए गए हैं। पहले दिन लगभग 3 लाख हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीन लगाई जानी है।

यह भी पढ़ें: किसान आंदोलन के बीच शक के घेरे में बलदेव सिंह सिरसा, NIA ने जारी किया समन