Asianet News Hindi

कल मुख्यमंत्रियों से बात करेंगे पीएम मोदी, लॉकडाउन हटाने के प्लान पर हो सकती है चर्चा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चर्चा करेंगे। इस दौरान कोरोना के खिलाफ किस तरह से लड़ाई में आगे बढ़ना है, इस पर बात हो सकती है। पीएम मोदी की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होने वाली ये बैठक सुबह 10 बजे शुरू होगी। 

corona virus outbreak PM modi will discuss with cm of states on monday KPP
Author
New Delhi, First Published Apr 26, 2020, 8:17 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चर्चा करेंगे। इस दौरान कोरोना के खिलाफ किस तरह से लड़ाई में आगे बढ़ना है, इस पर बात हो सकती है। पीएम मोदी की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होने वाली ये बैठक सुबह 10 बजे शुरू होगी। माना जा रहा है कि पीएम मुख्यमंत्रियों से लॉकडाउन को लेकर भी चर्चा कर सकते हैं। 

देश में कोरोना का संकट बढ़ने के बाद पीएम की मुख्यमंत्रियों के साथ तीसरी वीडियो कॉन्फ्रेंस है।  

लॉकडाउन पर भी होगी चर्चा
सरकार के सूत्रों के मुताबिक, इस कॉन्फ्रेंसिंग में कोरोना वायरस से निपटने के तरीकों पर चर्चा के साथ साथ लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से हटाने पर बात हो सकती है। देश में 3 मई तक लॉकडाउन लागू है। 

कुछ राज्य लॉकडाउन बढ़ाने के पक्ष में
भारत में 25 मार्च को लॉकडाउन लगा था। इसे 14 अप्रैल को खत्म होना था। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यों की सिफारिश पर इसे 3 मई तक बढ़ाने का फैसला किया। हालांकि, इस दौरान जरूरी, गैर जरूरी सामानों की दुकानों को खोलने और कुछ औद्योगिक गतिविधियों को शुरू करने समेत तमाम प्रकार की छूट भी केंद्र सरकार द्वारा दी गई। हालांकि, कुछ राज्य अभी भी लॉकडाउन बढ़ाने के पक्ष में हैं, जिससे कोरोना पूरी तरह से नियंत्रित हो सके। 

कोरोना से युद्ध लड़ रहा पूरा देश- पीएम मोदी
इससे पहले रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम के माध्यम से जनता को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा, हम भाग्यशाली हैं कि देश का हर नागरिक इस लड़ाई का सिपाही है। आप कहीं भी नजर डालिए, अहसास हो जायेगा कि यह जनता की लड़ाई है। जब पूरा विश्व इस महामारी से जूझ रहा है। भविष्य में जब इसकी जनता होगी तो भारत की पीपल ड्रिवन लड़ाई की चर्चा जरूर होगी। 

उन्होंने कहा, ताली-थाली, दीया मोमबत्ती से लोगों में भावनाएं जगीं। शहर हो या गांव ऐसा लग रहा है जैसे देश में महायज्ञ चल रहा है जिसमें हर कोई योगदान देने को आतुर हैं। हमारे किसान भाई बहन दिन रात खेतों में मेहनत कर रहे हैं और चिंता कर रहे हैं कि कोई भी भूखा न सोए।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios