नई दिल्ली. दुनिया के 114 देशों पर कोरोना का कहर जारी है। भारत में अब तक 81 मामले सामने आए हैं। इनमें से 64 भारत और 16 इटली और 1 कनाडा से है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि अब तक 42 हजार 296 यात्रियों कोन निगरानी में रखा गया है। इनमें से 2,559 यात्रियों में कोरोना वायरस जैसे लक्षण पाए गए हैं। 17 विदेशी समेत 522 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यह जानकारी विदेश, स्वास्थ्य, नागरिक उड्डयन, वित्त और वाणिज्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दी।

13 मार्च तक भारत में कोरोना वायरस से कुल 81 लोग प्रभावित हैं। इसमें से 17 विदेशी हैं।


30 जनवरी को भारत में सामने आया था पहला मामला...

भारत में 30 जनवरी को कोरोना का पहला मामला सामने आया। 30 जनवरी को 1 व्यक्ति कोरोना से संक्रमित मिला। इसके बाद 3 मार्च को 5, 5 मार्च को 29, 8 मार्च को 34, 10 मार्च को 44, 11 मार्च को 60 और 12 मार्च को 74 मामले सामने आए। यानी 43 दिन में कोरोना के केस 1 से 81 पर पहुंच गया।

एक्शन में केन्द्र सरकार, जानें अब तक क्या-क्या कदम उठाए? 

देशभर के हवाई अड्डूों पर अब तक 11,14,025 लोगों की स्क्रीनिंग हुई।
- देश में कोरोनावायरस की जांच के लिए 51 लैब और 56 कलेक्शन सेंटर बनाए गए हैं।
- विदेश मंत्रालय, स्वास्थ्य, नागरिक उड्डयन, वित्त और वाणिज्य सहित सभी पांच मंत्रालयों के संयुक्त सचिव हर दिन एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं। 
- केंद्र सरकार ने सभी मौजूदा वीजा 15 अप्रैल, 2020 तक निलंबित कर दिया है। इसके अलावा ओसीआई कार्ड धारकों को दी जाने वाली वीजा मुक्त यात्रा की सुविधा भी 15 अप्रैल 2020 तक स्‍थगित कर दी गई है।
- कोरोनावायरस के खतरे को देखते हुए राष्ट्रपति भवन संग्रहालय परिसर और चेंज ऑफ गार्ड समारोह अगले नोटिस तक आम जनता के लिए बंद रहेंगे। राष्ट्रपति भवन भी 13 मार्च से अगले नोटिस तक आम जनता के लिए बंद रहेगा।
- देश के सभी राज्यों में कोरोना के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं।
- 44 भारतीयों को शुक्रवार को ईरान से एयर इंडिया के विमान से भारत लाया गया। इन्हें निगरानी वार्डों में रखा गया है।
- केंद्र सरकार ने भारत बांग्लादेश बॉर्डर से आने वालीं बस, ट्रेनों को 15 अप्रैल तक बंद कर रखा है। हालांकि, नेपाल बॉर्डर अभी पहले की तरह ही खुला रहेगा। 
- सुप्रीम कोर्ट में सिर्फ संबंधित वकील ही कोर्ट रूम में मौजूद रह सकेंगे।
- जापान से आए 124 और चीन से आए 112 लोगों को आज डिस्चार्ज कर दिया गया है। दो टेस्टों के बाद उनकी टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई थी।
- मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, ओडिशा, उत्तराखंड, महाराष्ट्र, बिहार, हरियाणा, जम्मू कश्मीर, दिल्ली में स्कूल कॉलेजों को बंद कर दिया गया है। साथ ही सार्वजनिक कार्यकर्मों पर भी रोक लगाने का फैसला किया गया है। 

खेल पर कोरोना का असर
BCCI ने 15 अप्रैल तक के लिए IPL पर रोक लगा दी है। पहले इसे 29 मार्च को शुरू होना था। उधर, भारत और साउथ अफ्रीका के बीच चल रही तीन मैचों की वनडे सीरीज में भी दूसरे और तीसरे मैच में दर्शकों को स्टेडियम के अंदर जाने की अनुमति नहीं दी गई है। BCCI ने दोनों मैचों के टिकट के पैसे भी दर्शकों को वापस लौटा दिए हैं। उधर, केजरीवाल सरकार ने भी दिल्ली में आईपीएल मैचों पर रोक लगा दी है।

कोरोना से भारत को कितना नुकसान?
कोरोना का असर सिर्फ चीन ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के देशों की अर्थव्यवस्था पर पड़ा है। पिछले एक हफ्ते में कोरोनावायरस का असर शेयर मार्केट पर भी देखने को मिला है। गुरुवार को सेंसेक्स जहां 1919 अंकों की गिरावट के साथ बंद हुआ था। वहीं, ये गिरावट शुक्रवार को भी जारी रही। बाजार करीब 2500 अंकों की गिरावट के साथ खुला। लगातार गिरते बाजार के चलते लोअर सर्किट लगा। इसके 45 मिनट बाद जब ट्रेडिंग खुली तो सेंसेक्स 3600 अंक तक गिर गया। हालांकि, सेंसेक्स 1325 अंकों की बढ़त के साथ बंद हुआ। रिपोर्ट के मुताबिक, 20 जनवरी से अब तक निवेशकों को 46 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। 

वहीं, कोरोना का असर भारत के पर्यटन उद्योग पर भी पड़ता दिख रहा है। केंद्र सरकार ने 13 मार्च की रात से 15 अप्रैल तक राजनयिक, आधिकारिक, रोजगार, अंतरराष्ट्रीय संगठनों और प्रोजेक्ट वीजा को छोड़कर सभी वीजा पर रोक लगाई है। इससे भारत के ट्रैवल और टूरिज्म पर काफी प्रभाव दिखेगा। माना जा रहा है कि अगर यह रोक लागू रही और 10 दिन तक इस पर दोबारा फैसला ना लिया गया तो भारत में करीब 8500 करोड़ रुपए का नुकसान होगा। 

इसके अलावा टूरिज्म इंडस्ट्री में अक्टूबर 2019 से मार्च 2020 तक 28 अरब डॉलर के रेवेन्यू की उम्मीद जताई गई थी। लेकिन माना जा रहा है कि इस पर 60 से 65 फीसदी असर पड़ सकता है। उधर, इस साल मार्च कर करीब 80%  होटल बुकिंग भी कैंसिल हो चुकी हैं। 

दुनिया में कोरोना की क्या स्थिति है? 
वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन (WHO) ने कोरोना को महामारी घोषित किया है। अब तक 114 देश में 1 लाख 40 हजार लोग संक्रमित पाए गए हैं। 5 हजार लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। चीन में शुक्रवार 8 लोगों की मौत हुई। यहां अब तक 31 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, इटली में 1,016, ईरान में 514, स्पैन में 120 लोगों की मौत हो चुकी है। WHO समेत तमाम देशों के डॉक्टर कोरोना से निपटने के लिए इलाज खोजने में लगे हैं। हालांकि, अभी तक किसी को कोई सफलता हाथ नहीं लगी है।

वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन (WHO) के मुताबिक, स्वस्थ लोगों को इसे पहनने की जरूरत नहीं है। जबतक कि वह किसी कोरोना से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में ना आए। दूसरी ओर, बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई जैसी परेशानी के वक्त लोगों को मास्क पहनना चाहिए और डॉक्टर को दिखाना चाहिए।


भारत : राज्यों में क्या स्थिति?

दिल्ली : दिल्ली में कोई भी सेमिनार, कॉन्फ्रेंस, स्पोर्ट ईवेंट को अगले आदेश तक बंद किया गया है। कोई भी स्पोर्ट ईवेंट जिसमें लोग इकट्ठे होते हैं उनको बंद किया गया है इसमें IPL भी शामिल है। इसके अलावा यहां स्कूल, कॉलेजों को भी बंद करने का फैसला किया गया है।

उत्तर प्रदेश: उत्तर प्रदेश में अब तक कोरोना वायरस के कुल 11 मामले सामने आए, जिनमें से 10 का इलाज दिल्ली में चल रहा है। जिन संस्थाओं में परीक्षाएं चल रही हैं वो वैसे ही चलेंगी। लेकिन जहां परीक्षाएं नहीं चल रही हैं उन्हें 22 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है। 20 मार्च को एक बार फिर प्रदेश की स्थिति का अवलोकन करेंगे और देखेंगे कि इस तारीख को आगे बढ़ाना है या नहीं।

हरियाणा: हरियाणा सरकार ने निर्णय लिया है कि एहतियात के तौर पर राज्य की सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों को 31 मार्च 2020 तक बंद रहेंगे। 

छत्तीसगढ़ : राज्य सरकार ने सभी सार्वजनिक पुस्तकालय, जिम, स्विमिंग पूल, शहरी क्षेत्रों में वाटर पार्क और आंगनवाड़ियों को 31 मार्च तक बंद रखने का फैसला किया है।

कर्नाटक: मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा, राज्य के सभी मॉल, सिनेमा हॉल, पब, शादी समारोह और अन्य बड़े समारोहों पर एक हफ्ते के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसके अलावा सभी सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त कॉलेज 14 मार्च से 28 मार्च तक बंद रहेंगे। 

मध्य प्रदेश: कोरोना वायरस के मद्देनजर राज्य में सभी सरकारी और निजी स्कूलों की कक्षाएं अगले आदेश तक निलंबित रहेंगी। कक्षा 5, कक्षा 8, कक्षा 10 और कक्षा 12 (सभी बोर्ड) की परीक्षाएं तय तारीख के अनुसार चलेंगी।

ओडिशा: राज्य आपदा घोषित करने के बाद 29 मार्च तक ओडिशा विधानसभा निलंबित रहेगी। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा, परीक्षा कराने को छोड़कर सभी शैक्षणिक संस्थान 31 मार्च तक बंद रहेंगे। सिनेमा हॉल, स्विमिंग पूल और जिम भी 31 मार्च तक बंद कर दिए जाएंगे। 

बिहार:  सभी स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान 31 मार्च तक बंद कर दिए गए हैं। सरकारी स्कूलों के बंद रहने तक इनमें पढ़ने वाले बच्चों के मिड-डे- मील के पैसे उनके बैंक खाते में आएंगे। 22 मार्च को बिहार दिवस पर होने वाले सभी कार्यक्रम रद्द किए गए।

पंजाब: अटारी-वाघा बॉर्डर बंद कर दिया गया है। यहां से ना तो पाकिस्तानी नागरिक ना माल लाने वाले वाहन आ सकेंगे। 

महाराष्ट्र:  मुंबई, नवी मुंबई, ठाणे, नागपुर, पिंपरी-चिंचवड के सभी मॉल, थिएटर, जिम, स्विमिंग पूल आज आधी रात से 30 मार्च तक बंद रहेंगे। साथ ही यहां अगले आदेश तक स्कूल कॉलेज भी बंद रहेंगे। हालांकि, 10 और 12वीं की परीक्षाएं जारी रहेंगी। इसके अलावा सरकारी स्कूलों में मास्क और सार्वजनिक स्थलों पर सैनिटाइजर उपलब्ध करवाने का फैसला किया है। 

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, कोरोना वायरस के जाने तक हाथ न मिलाएं। आप सबसे  सिर्फ नमस्ते करो।

सरकार ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर

Image

कोरोनावायरस के लक्षण
कोरानावायरस न्यूमोनिया का कारण बन सकता है। कोरोना से संक्रमित लोगों को खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ होती है। कुछ मामलों में ऑर्गन फेलियर भी हुआ है। यह वायरल निमोनिया है, इसलिए एंटीबायोटिक्स भी इसपर असरदार नहीं है।

कैसे बचा जा सकता?
-
हर बार साबुन से अपने हाथ धोएं।
- कफ और खांसी की स्थिति में अपने मुंह को ढका रखे। सर्दी, बुखार होने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। साथ ही अपनी 14 दिन की यात्रा के बारे में भी जानकारी दें। अगर आपने पिछले 2 हफ्तों में चीन, कोरिया, ईरान या इटली की यात्रा की है, तो 14 दिन तक सार्वजनिक स्थलों पर जाने से बचें और घर में ही रहें।