Asianet News Hindi

हरियाणा निकाय चुनाव में भाजपा को झटका, अंबाला में निर्दलीय, सोनीपत से कांग्रेस जीती

हरियाणा के स्थानीय निकाय चुनाव की काउंटिंग जारी है। किसान आंदोलन के बीच सत्ताधारी भाजपा की प्रतिष्ठा दांव पर है। हरियाणा में नतीजे भाजपा-जेजेपी के लिए बड़ा झटका साबित हो रहे हैं। यहां अंबाला नगर निगम में निर्दलीय ने जीत हासिल की। वहीं, सोनीपत में कांग्रेस के उम्मीदवार को जीत मिली। हालांकि, पंचकुला नगर निगम में भाजपा आगे चल रही है।

Counting of local body elections in Haryana continues voting was held on December 27 kpl
Author
Ambala, First Published Dec 30, 2020, 10:21 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अंबाला. हरियाणा के स्थानीय निकाय चुनाव की काउंटिंग जारी है। किसान आंदोलन के बीच सत्ताधारी भाजपा की प्रतिष्ठा दांव पर है। हरियाणा में नतीजे भाजपा-जेजेपी के लिए बड़ा झटका साबित हो रहे हैं। यहां अंबाला नगर निगम में निर्दलीय ने जीत हासिल की। वहीं, सोनीपत में कांग्रेस के उम्मीदवार को जीत मिली। हालांकि, पंचकुला नगर निगम में भाजपा आगे चल रही है।

अपडेट्स

- अंबाला नगर निगम से निर्दलीय शक्ति रानी ने जीत हासिल की। उन्होंने भाजपा की वंदना शर्मा को हराया। शक्ति रानी को 37 हजार 604 वोट मिले। वहीं, वंदना को 29520 वोट मिले। कांग्रेस प्रत्याशी को 13797 वोट मिले। 
- सोनीपत नगर निगम चुनाव में कांग्रेस के निखिल मदान ने भाजपा के ललित बत्रा को 13818 वोटों से हराया। 
- पंचकुला से भाजपा आगे चल रही है। भाजपा प्रत्याशी कुलभूषणा गोयल आगे चल रहे हैं। 

नगर पालिका में भी भाजपा पस्त
- सांपला नगर पालिका में भाजपा को बड़ी हार का सामना करना पड़ा। यहां चेयरमैन पद पर निर्दलीय प्रत्याशी पूजा ने जीत दर्ज की। पूजा को 6,668 वोट मिले हैं जबकि भाजपा के प्रत्याशी सोनू को 2462 वोट मिले।
- उकलाना नगर पालिका में भी निर्दलीय ने बाजी मारी। यहां से निर्दलीय उम्मीदवार सुशील साहू ने जीत दर्ज की है। 
-  धारूहेड़ा नगर पालिका में निर्दलीय प्रत्याशी कंवर सिंह ने जीत दर्ज की है। 

27 दिसंबर को हुआ था मतदान
हरियाणा के सोनीपत, पंचकूला और अंबाला नगर निगम के साथ रेवाड़ी नगर परिषद, सांपला, धारुहेड़ा और उकलाना नगर पालिका के लिए 27 दिसंबर को मतदान हुए थे। निकाय चुनाव में करीब 60 फीसदी मतदान हुए थे। पिछले 34 दिन से चले रहे किसान आंदोलन के बीच निकाय चुनाव में BJP के लिए काफी चुनौती मानी जा रही है। 

एक महीने से अधिक समय से जारी किसान आंदोलन का हरियाणा की राजनीति पर काफी असर पड़ा है। वहीं आज किसानों और सरकार के बीच छठे दौर की बातचीत होने वाली है। ऐसे में सभी की निगाहें हरियाणा स्थानीय निकाय चुनाव नतीजे पर होंगी। नगर निकाय चुनाव के साथ हरियाणा की बीजेपी और जेजेपी की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। उसके सामने कांग्रेस और इनेलो ने भी अपने उम्मीदवार उतारे हैं।

पहली बार मेयर का चुनाव
हरियाणा में तीन नगर निगम समेत सात निकाय चुनाव के नतीजे आज आएंगे। दिलचस्प यह है कि इस बार मेयर की सीधे वोटिंग को लेकर हरियाणा का पहला चुनाव है। इससे पहले पार्षद ही मेयर चुनते थे। बीजेपी ने गठबंधन के फॉर्म्युले के तहत तीनों नगर निगम- सोनीपत, पंचकूला और अंबाला के मेयर पद के लिए अपने उम्मीदवार उतारे हैं। इसके अलावा रेवाड़ी नगर परिषद और सांपला नगर पालिका चेयरमैन पद के लिए उम्मीदवार भी चुनावी मैदान पर हैं।

कांग्रेस-बीजेपी के बीच टक्कर
बीजेपी की सहयोगी जेजेपी ने धारुहेड़ा और उकलाना नगरपालिका के चेयरमैन पद के लिए उम्मीदवार उतारे हैं। कांग्रेस ने सिर्फ तीनों नगर निगम के मेयर सीट और रेवाड़ी नगर परिषद में चेयरमैन के लिए उम्मीदवार उतारे। वार्ड पार्षदों के लिए प्रत्याशी नहीं खड़े गए।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios