Asianet News HindiAsianet News Hindi

साढ़े 7 साल बाद 'सुनंदा पुष्कर सुसाइड मिस्ट्री' से मिली थरूर को मुक्ति; होटल में उस रात क्या हुआ था?

सुनंदा पुष्कर सुसाइड केस में उलझे कांग्रेस नेता शशि थरूर साढ़े 7 साल बाद बरी हो गए हैं। सुनंदा जनवरी, 2014 में दिल्ली के एक बड़े होटल के कमरे में मृत मिली थीं। इस मामले में उनके पति शशि थरूर पर कई आरोप लगे थे।

Court acquits Congress leader Shashi Tharoor in Sunanda Pushkar suicide case
Author
New Delhi, First Published Aug 18, 2021, 11:50 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. अपनी पत्नी सुनंदा पुष्कर के सुसाइड मामले में घिरे कांग्रेस नेता शशि थरूर आखिरकार साढ़े 7 साल बाद सभी आरोपों से बरी हो गए। दिल्ली की राउज एवेंन्यू कोर्ट ने इस मामले में शशि थरूर को बेगुनाह माना। बरी होने के बाद थरूर ने कोर्ट को धन्यवाद देते हुए कहा कि वे साढ़े 7 साल से इस टॉर्चर और दर्द से गुजर रहे थे।

दिल्ली पुलिस ने कोर्ट से आरोप तय करने का किया था आग्रह
दिल्ली पुलिस ने कोर्ट से शशि थरूर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाने) और अन्य धाराओं के तहत आरोप तय करने का आग्रह किया था। हालांकि, थरूर के वकील ने कोर्ट में अपना पक्ष रखते हुए दलील दी है कि एसआइटी जांच में उनके मुवक्किल पूरी तरह दोषमुक्त साबित हुए हैं।

होटल में मृत मिली थी सुनंदा पुष्कर
सुनंदा पुष्कर जनवरी, 2014 में दिल्ली के एक बड़े होटल के कमरे में मृत मिली थीं। इस मामले में उनके पति शशि थरूर पर कई आरोप लगे थे। दिल्ली पुलिस ने थरूर के खिलाफ पुष्कर को आत्महत्या के लिए उकसाने का दर्ज किया था। इस मामले में थरूर को जमानत लेनी पड़ी थी। हालांकि, दिल्ली पुलिस को जांच के दौरान कोई ऐसा सबूत नहीं मिला था जो थरूर के खिलाफ हो। 

अगर आरोप साबित हो जाते
अगर कांग्रेस नेता पर सुनंदा पुष्कर को सुसाइड के लिए उकसाने के आरोप साबित हो जाते, तो उन्हें 10 साल तक की कैद हो सकती थी। थरूर पर सुनंदा के साथ बुरा बर्ताव करने और मारपीट तक करने का आरोप लगा था। यह हाईप्रोफाइल मामला मीडिया की सुर्खियों में बना रहा। 29 सितंबर, 2014 को एम्स के मेडिकल बोर्ड ने सुनंदा के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट दिल्ली पुलिस को सौंपी थी। इसमें कहा गया था कि मौत की वजह जहर है। हालांकि अब यह कभी सामने नहीं आ पाएगा कि सुनंदा ने सुसाइड क्यों किया?

यह भी पढ़ें
ये हादसा नहीं हत्या है! अस्पताल में जिंदा जल गया नवजात, फोन में बिजी स्टाफ नहीं सुनीं बच्चे की चीखें
खौफ में पति-पत्नी ने की खुदकुशी, अंतिम संस्कार के लिए रख गए 1 लाख..वजह जान कमिश्नर से मंत्री तक दुखी
रिटायर्ड फौजी के बेटे की हुई मौत, 14 दिन से डीप फ्रीजर में रखी है लाश, वजह भी है बड़ी

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios