Asianet News HindiAsianet News Hindi

सुनंदा पुष्कर केस : पुलिस ने कोर्ट में थरूर के खिलाफ आरोप तय करने की मांग की, कहा- प्रताड़ना के चलते की थी खुदकुशी

सुनंदा पुष्कर ने मानसिक यातना और विवाहेतर संबंधों के कारण आत्महत्या की थी। यह बात दिल्ली पुलिस ने विशेष सीबीआई कोर्ट के न्यायधीश अजय कुमार कुहर से कही। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने कोर्ट से कांग्रेस विधायक शशि थरूर के खिलाफ उनकी पत्नी सुनंदा पुष्कर की आत्महत्या के मामले में आरोप तय करने के लिए आग्रह किया। 17 अक्टूबर पर इसपर कोर्ट में बहस होगी।
 

Delhi Police wants to try Shashi Tharoor on murder charges
Author
new delhi, First Published Aug 31, 2019, 7:42 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. सुनंदा पुष्कर ने मानसिक यातना और विवाहेतर संबंधों के कारण आत्महत्या की थी। यह बात दिल्ली पुलिस ने विशेष सीबीआई कोर्ट के न्यायधीश अजय कुमार कुहर से कही। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने कोर्ट से कांग्रेस विधायक शशि थरूर के खिलाफ उनकी पत्नी सुनंदा पुष्कर की आत्महत्या के मामले में आरोप तय करने के लिए आग्रह किया। 17 अक्टूबर पर इसपर कोर्ट में बहस होगी।

"सुनंदा पुष्कर के मेल में लिखा था अब जीने की इच्छा नहीं है"
शव परीक्षण रिपोर्ट का हवाला देते हुए पब्लिक प्रॉसिक्यूटर अतुल श्रीवास्तव ने थरूर पर हत्या का आरोप तय करने के लिए दबाव डाला। श्रीवास्तव ने कहा, "मेल में हमें सुनंदा पुष्कर का एक बयान मिला। उन्होंने कहा कि उनके पास अब जीने की इच्छा नहीं है इसलिए मृत्यु चुनी।

"कैट्टी नाम की लड़की को लेकर दोनों में होती थी लड़ाई"

- श्रीवास्तव ने कोर्ट को बताया, दंपति अपनी मौत से पहले एक साल से अधिक समय से लड़ रहे थे। वे 'कैट्टी' नाम की एक लड़की को लेकर लड़ते थे। 

- "पुष्कर ने मेहर तरार नाम की एक महिला के साथ थरूर के संबंध के बारे में बताया। उन्होंने जून 2013 में तीन रातें दुबई में बिताई थीं। चूंकि उनका दुबई में एक मजबूत सोर्स था, इसलिए उन्हें इसके बारे में बताया गया था।" श्रीवास्तव में यह बयान पुष्कर की दोस्त नलिनी सिंह के बयान के आधार पर दिया।

- नलिनी सिंह के बयान के आधार पर उन्होंने अदालत को बताया, "उनके पास फोन आया था। वह परेशान थी। उन्होंने कहा कि थरूर और मेहर तरार ने अंतरंग मैसेज किए गए थे। एक संदेश में उसने कहा था कि थरूर चुनाव के बाद पुष्कर को तलाक देने जा रहे थे। उन्होंने सुनंदा के भाई आशीष दास का भी हवाला दिया, जिन्होंने उन्हें बताया था कि उनकी बहन शादी से खुश थी लेकिन जीवन के अंतिम दिनों में परेशान थी।

17 अक्टूबर को होगी सुनवाई
पब्लिक प्रॉसिक्यूटर की बात सुनने के बाद अदालत ने थरूर के खिलाफ 17 अक्टूबर को लगाए गए आरोपों पर बहस की बात कही। पुष्कर को 17 जनवरी, 2014 की रात एक लक्ज़री होटल के एक सूट में मृत पाया गया था। थरूर पर धारा 498-ए (पति या उनके रिश्तेदार द्वारा किसी महिला के साथ क्रूरता करने) के तहत आरोप लगाया गया था।  
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios