Asianet News HindiAsianet News Hindi

नए संसद को बनाने वाले श्रमिकों को मिलेगी पहचान, प्रोजेक्ट में शामिल मजदूरों का नाम-फोटो होगा डिस्प्ले

पीएम नरेंद्र मोदी (PM MODI) रविवार की रात करीब 8.45 बजे नए बन रहे संसद भवन सेंट्रल विस्टा (Central Vista) का निर्माण कार्य देखने जा पहुंचे। वहां निर्माण कार्य को देखने के बाद श्रमिकों की सुरक्षा और स्वास्थ्य संबंधी आवश्यक निर्देश दिए। 

Digital Archive will be set up to recognize the contribution of the workers towards the construction of the new Parliament building
Author
New Delhi, First Published Sep 27, 2021, 6:37 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी (PM MODI) रविवार की रात करीब 8.45 बजे नए बन रहे संसद भवन सेंट्रल विस्टा (Central Vista) का निर्माण कार्य देखने जा पहुंचे। वहां निर्माण कार्य को देखने के बाद श्रमिकों की सुरक्षा और स्वास्थ्य संबंधी आवश्यक निर्देश दिए। पीएम मोदी ने संसद (New Parliament) निर्माण के ऐतिहासिक काम में लगे श्रमिकों का प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद एक डिजिटल डिस्प्ले का भी निर्देश दिया। पीएम मोदी ने कहा कि सभी श्रमिकों का नाम, बायोडेटा और फोटो हमेशा डिस्प्ले होता रहेगा।

श्रमिकों का हालचाल जाना, कार्यों की जानकारी ली

प्रधानमंत्री ने साइट पर किए जा रहे निर्माण कार्यों की प्रगति के बारे में जानकारी ली और परियोजना को समय पर पूरा करने पर बल दिया। उन्होंने कार्य स्थल पर निर्माण कार्य में लगे श्रमिकों से बातचीत की और उनका हालचाल भी जाना। उन्होंने जोर देकर कहा कि वे एक पवित्र और ऐतिहासिक कार्य कर रहे हैं। निरीक्षण करने पहुंचे पीएम मोदी ने निर्माण स्थल पर कार्य में लगे सभी कर्मियों को पूरी तरह से कोविड-19 वैक्सीन लगाए जाने का निर्देश दिया। उन्होंने अधिकारियों से सभी श्रमिकों की मंथली हेल्थ चेकअप कराने का भी निर्देश दिया। 

संसद भवन निर्माण में लगे श्रमिकों का नाम, बायोडेटा और फोटो होगा डिजिटल डिस्प्ले

उन्होंने यह भी कहा कि एक बार निर्माण कार्य पूरा हो जाने के बाद, निर्माण स्थल पर काम में लगे सभी निर्माण श्रमिकों के लिए एक डिजिटल संग्रहालय स्थापित किया जाना चाहिए, जिसमें उनका नाम, उनके स्थान का नाम, उनकी तस्वीर और उनके व्यक्तिगत विवरण शामिल हों। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य में उनके योगदान को पहचान मिलनी चाहिए। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि सभी श्रमिकों को उनकी भूमिका और इस प्रयास में भागीदारी के बारे में एक प्रमाण पत्र भी दिया जाना चाहिए।

नया संसद भवन अहमदाबाद के आर्किटेक्ट ने किया है डिजाइन

करीब 100 साल बाद देश को नया संसद भवन मिलेगा। अहमदाबाद के आर्किटेक्ट बिमल पटेल ने नए संसद भवन की डिजाइन तैयार की है। 1911 में ब्रिटिश आर्किटेक्ट एडविन लुटियंस के डिजाइन पर दिल्ली वजूद में आई थी। इसके बाद 1921-27 के बीच संसद भवन बना। उस वक्त नए कंस्ट्रक्शन के लिए इंडिया गेट से राष्ट्रपति ‌‌भवन तक के तीन किलोमीटर लंबे राजपथ के आसपास के इलाके की पहचान हुई थी। इसे सेंट्रल विस्टा नाम से जाना जाता है। अब जो रिनोवेशन और नया कंस्ट्रक्शन होने जा रहा है, उसे भी केंद्र सरकार ने सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट ही नाम दिया है।

Read this also:

पाकिस्तान में मोहम्मद अली जिन्ना की प्रतिमा को विस्फोट कर उड़ाया, विशालकाय प्रतिमा पूरी तरह नष्ट

भारत बंद: केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी बोले-कुछ पार्टियां किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर चला रहीं

Tweet के जरिये BJP सांसद लॉकेट चटर्जी ने कर दिया 'पॉलिटिकिल खेला' बाबुल के बाद उनके भी TMC में जाने की अटकलें

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios