Asianet News HindiAsianet News Hindi

Monsoon Update:ओडिशा, राजस्थान, गुजरात, गोवा, महाराष्ट्र सहित कई राज्यों में मध्यम से भारी बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग ने दक्षिण राजस्थान, गुजरात, अंडमान-निकोबार द्वीप समूह, कोंकण-गोवा और मध्य महाराष्ट्र में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। आइए जानते हैं किन राज्यों में मानसून का क्या हाल रहने वाला है?

Effect of southwest monsoon in India, heavy rain alert in many states kpa
Author
New Delhi, First Published Aug 17, 2022, 6:51 AM IST

मौसम डेस्क. देश के कई राज्यों में इस समय बारिश का दौर चल रहा है। दक्षिण पश्चिमी मानसून(south west monsoon) के एक्टिव रहने से कई राज्यों में भारी बारिश भी हो रही है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने आजकल में दक्षिण राजस्थान गुजरात और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी दी है। कोंकण और गोवा और मध्य महाराष्ट्र में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। (तस्वीर छत्तीसगढ़ के जगदलपुर की)

इन राज्यों में हल्की या मध्यम बारिश संभावित
राजस्थान के शेष हिस्सों, पश्चिम मध्य प्रदेश, कोंकण और गोवा, विदर्भ, छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों, ओडिशा, गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और तमिलनाडु और केरल में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। पश्चिमी हिमालय, पूर्वोत्तर भारत, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम के छत्तीसगढ़ के शेष हिस्सों, पूर्वी मध्य प्रदेश, तटीय कर्नाटक और तेलंगाना में हल्की बारिश के आसार हैं। बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश का अलर्ट है।

मौसम में बदलाव के लिए ये सिस्टम जिम्मेदार
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार, पूर्वोत्तर अरब सागर और उससे सटे दक्षिण पाकिस्तान के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है, जिससे संबंधित चक्रवाती परिसंचरण(cyclonic circulation) मध्य क्षोभमंडल स्तर(mid troposphere level) तक फैला हुआ है। मानसून की ट्रफ अब जैसलमेर, कोटा, पश्चिमी मध्य प्रदेश पर बने हुए डिप्रेशन के केंद्र, पेंड्रा रोड, झारसुगुडा, चांदबली और फिर पूर्व दक्षिण-पूर्व की ओर बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पूर्व की ओर जा रही है। दक्षिण गुजरात से महाराष्ट्र तट तक समुद्र के औसत स्तर पर अपतटीय ट्रफ बनी हुई है। एक उत्तर-दक्षिण ट्रफ पुत्री आंतरिक कर्नाटका से दक्षिणी आंतरिक कर्नाटका और तमिलनाडु होते हुए कोमोरिन क्षेत्र तक जा रही है।

बीते दिन इन राज्यों में हुई बारिश
पिछले दिन जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, लद्दाख, गंगीय पश्चिम बंगाल, आंतरिक ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश, उत्तरी तटीय कर्नाटक, विदर्भ और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई। पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और एनसीआर, उत्तरी राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, तेलंगाना, मराठवाड़ा और रायलसीमा में हल्की बारिश होती रही। पूर्वोत्तर भारत और कर्नाटक के उत्तरी तट पर एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश हुई।

आंध्र प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और अरुणाचल प्रदेश के दक्षिणी तट पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हुई। मध्य प्रदेश में मध्यम से भारी बारिश दर्ज की गई। उत्तरी कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, गुजरात के कुछ हिस्सों और दक्षिण-पूर्व और दक्षिण राजस्थान में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई।

राजस्थान के अलग-अलग हिस्सों में भारी बारिश की चेतावनी
मौसम विभाग ने राज्य में अलग-अलग स्थानों पर 17 अगस्त को भारी से बहुत भारी बारिश होने का अनुमान जताया है।  मंगलवार को जयपुर में लगभग पूरे दिन बारिश रिकॉर्ड की गई। इस बीच, राज्य के अधिकांश हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई। मौसम कार्यालय ने बारिश के चल रहे दौर के लिए बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र को जिम्मेदार ठहराया है। इसके प्रभाव से 17 अगस्त को राज्य में छिटपुट स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश होने की प्रबल संभावना है।

गुजरात में बारिश की स्थिति
उत्तर और दक्षिण गुजरात के कुछ हिस्सों में मंगलवार को भारी बारिश हुई। तापी, बनासकांठा और वलसाड जिलों में सुबह से 12 घंटे में 100 मिमी से अधिक बारिश हुई। अधिकारियों ने कहा कि नर्मदा जिले में सरदार सरोवर बांध के जलग्रहण क्षेत्रों में भारी बारिश के कारण इसका स्तर बढ़कर 134.65 मीटर हो गया, जो पूरे जलाशय स्तर 138.68 मीटर से नीचे है। मध्य प्रदेश में ओंकारेश्वर और इंदिरा बांधों से भी पानी का भारी प्रवाह हुआ। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अगले 24 घंटों में गुजरात के अधिकांश हिस्सों में व्यापक हल्की से मध्यम बारिश की भविष्यवाणी की है। दक्षिण और उत्तर गुजरात क्षेत्रों, सौराष्ट्र के कुछ जिलों और कच्छ में अत्यधिक भारी वर्षा होगी। 

दिल्ली में पारा गिरा, ठंडी हवाएं चलने से मौसम सुहाना
दिल्ली में पारा एक डिग्री गिरकर 33.1 डिग्री सेल्सियस पर आ जाने से मंगलवार को ठंडी हवा ने मौसम को खुशनुमा बना दिया। इस बीच मौसम विभाग ने हल्की बारिश या गरज के साथ बौछारें और तेज हवाएं चलने के साथ आसमान में आमतौर पर बादल छाए रहने का अनुमान जताया है। आईएमडी के पूर्वानुमान में कहा गया है कि बुधवार को न्यूनतम और अधिकतम तापमान क्रमश: 26 और 35 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। 

यह भी पढ़ें
कश्मीर में भयंकर हादसा, ब्रेक फेल होने पर सैनिकों की बस नदी में गिरी, 7 की मौत, अमरनाथ यात्रा में तैनात थे
ओडिशा में बाढ़ से 10 जिलों के 2 लाख लोग बेघर,आजकल में फिर भारी बारिश को लेकर अलर्ट

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios