Asianet News HindiAsianet News Hindi

Monsoon in India: इस हफ्ते उत्तर-पश्चिम भारत में मानसून कमजोर रहेगा, कुछ राज्यों में हो सकती है भारी बारिश

अगले एक सप्ताह तक उत्तर पश्चिम भारत में मानसून कमजोर रहेगा। आईएमडी ने कहा कि अगले पांच दिनों के दौरान उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में कम बारिश की गतिविधि की भविष्यवाणी की है। इस बीच मप्र, असम, यूपी, झारखंड आदि राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट है।

Effect of southwest monsoon in India, heavy rain alert in many states kpa
Author
First Published Aug 30, 2022, 7:01 AM IST

मौसम डेस्क. दक्षिण पश्चिम मानसून( Southwest monsoon) की विदाई का समय निकट आ रहा है। यह सितंबर के पहले सप्ताह में वापसी हो सकता है। इस बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, पूर्वी असम, बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश, झारखंड, उत्तरी छत्तीसगढ़, पूर्वी मध्य प्रदेश, तेलंगाना, रायलसीमा, तमिलनाडु और केरल में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

स्काईमेट के वाइस प्रेसिडेंट महेश पलावत के अनुसार, अगले एक सप्ताह तक उत्तर पश्चिम भारत में मानसून कमजोर रहेगा। आईएमडी ने अगले पांच दिनों के दौरान उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में कम बारिश की गतिविधि की भविष्यवाणी की है। अगस्त में बंगाल की उत्तर-पश्चिम खाड़ी के ऊपर तीन निम्न दबाव के क्षेत्र विकसित हुए, जो ओडिशा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान और दक्षिण पाकिस्तान से होते हुए वहां अच्छी बारिश दे रहे थे। मौसम ब्यूरो ने अगस्त में उत्तर पश्चिम भारत में सामान्य से सामान्य से अधिक बारिश की भविष्यवाणी की थी। (तस्वीर-केंद्रीय मंत्री और अपना दल (सोनेलाल) की अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल ने 29 अगस्त को मिर्जापुर जिले में भारी बारिश के बाद बाढ़ प्रभावित गांव का दौरा किया)

इन राज्यों में हल्की या मध्यम बारिश का अलर्ट
मौसम विभाग ने आजकल में पूर्वोत्तर भारत, गंगीय पश्चिम बंगाल, ओडिशा के कुछ हिस्सों, आंध्र प्रदेश, केरल, तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, लक्षद्वीप, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना जताई है। जम्मू कश्मीर, पंजाब के कुछ हिस्सों, हरियाणा, लद्दाख, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, मराठवाड़ा, गुजरात, कोंकण और गोवा में और पश्चिम मध्य प्रदेश में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश संभव है।

हिमाचल प्रदेश में बारिश का हाल
हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने चंबा जिले के बारिश प्रभावित परिवारों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। ठाकुर ने सोमवार को चंबा के सिहुंटा में एक बचाव और राहत शिविर का दौरा किया और प्रभावित लोगों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने काकरोटी का दौरा किया। यहां हाटली, थुलेल, बलाना और काकरोटी पंचायतों के 36 परिवारों के लिए बचाव और रिलीफ कैम्प बनाए गए हैं। इनके घर हाल ही में हुई भारी बारिश और भूस्खलन के कारण क्षतिग्रस्त हो गए हैं।ठाकुर ने कहा कि भट्टियात क्षेत्र में अभूतपूर्व बारिश के कारण कई संपर्क सड़कें क्षतिग्रस्त हो गईं जिससे 24 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ। जल शक्ति विभाग को विभिन्न पेयजल आपूर्ति योजनाओं की 22.11 करोड़ रुपए की क्षति हुई है।

दिल्ली के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश
दक्षिण और दक्षिण-पूर्वी दिल्ली के कुछ हिस्सों में सोमवार को हल्की बारिश हुई। जहां अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 35.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं न्यूनतम तापमान 26.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो साल के इस समय के लिए सामान्य है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के एक बुलेटिन के अनुसार, अगले कुछ दिनों में हल्की बारिश के साथ आम तौर पर बादल छाए रहने की संभावना है। अगले दो दिनों में अच्छी बारिश की संभावना के साथ अगस्त का अंत दिल्ली में कम से कम 14 वर्षों में सबसे कम बारिश के साथ होगा।

बीते दिन इन राज्यों में हुई बारिश
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार, बीते दिन असम, अरुणाचल प्रदेश, तमिलनाडु, केरल, लक्षद्वीप, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों, जम्मू कश्मीर, सिक्किम और दक्षिण उत्तर प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई।

शेष पूर्वोत्तर भारत, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश, कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, गुजरात के कुछ हिस्सों, तटीय कर्नाटक और उत्तरी पंजाब और दिल्ली में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश। उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, झारखंड के कुछ हिस्सों, पूर्वोत्तर उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, रायलसीमा, उत्तरी आंतरिक कर्नाटक और केरल में हल्की से मध्यम बारिश हुई। जबकि बिहार, झारखंड, उत्तराखंड और तमिलनाडु में एक या दो स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश रिकॉर्ड की गई।

यह भी पढ़ें
बाढ़ ने बर्बाद किया पाकिस्तान, टमाटर-प्याज 700 रुपए, जबकि आलू 120 रुपए किलो, अब भारत से ही मदद की उम्मीद
इस पहाड़ी राज्य में हर साल मानसून लाता है मौत का खौफ: 5 साल में 1,550 लोग मारे गए , 6,537.39 करोड़ का नुकसान
केरल में लैंडस्लाइड के बाद का दिल दहलाने वाला मंजर, छोटे से घर पर टूट पड़ा पहाड़, पूरी फैमिली दफन

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios