Asianet News HindiAsianet News Hindi

"महिलाओं का भेष रखकर घूम रहे तीन बच्चा चोरों को भीड़ ने पीटा..." इस मैसेज के साथ वायरल वीडियो का सच

'प्यारा उत्तराखंड' नाम के फेसबुक पेज पर 23 अगस्त को एक वीडियो पोस्ट किया गया,  जिसमें तीन लोगों को एक भीड़ द्वारा पीटा जा रहा है। वीडियो के साथ लिखा गया है कि हिमाचल प्रदेश के चैल चौक इलाके में बच्चों की चोरी करने वालों को लोगों ने पकड़ा। इसे 1,400 से अधिक बार शेयर किया गया है और 50,000 बार देखा गया। साथ में अलर्ट भी लिखा है कि आप सभी अपने बच्चों का विशेष ध्यान रखें। 
 

fake news, women beaten over false child kidnapping rumours in Himachal
Author
New Delhi, First Published Aug 29, 2019, 5:34 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. 'प्यारा उत्तराखंड' नाम के फेसबुक पेज पर 23 अगस्त को एक वीडियो पोस्ट किया गया,  जिसमें तीन लोगों को एक भीड़ द्वारा पीटा जा रहा है। वीडियो के साथ लिखा गया है कि हिमाचल प्रदेश के चैल चौक इलाके में बच्चों की चोरी करने वालों को लोगों ने पकड़ा। इसे 1,400 से अधिक बार शेयर किया गया है और 50,000 बार देखा गया। साथ में अलर्ट भी लिखा है कि आप सभी अपने बच्चों का विशेष ध्यान रखें। 

क्या है वीडियो का सच?

- वीडियो में दिख रहा है कि दो पुरुष और एक महिला(जिसे ट्रांसजेंडर कहा जा रहा है)  को बच्चे चोरी के आरोप में भीड़ ने पीटा। पोस्ट में लिखा गया है कि आप सभी अपने बच्चों का ध्यान रखें। चैलचौक हिमाचल में बच्चा गिरोह समझकर औरतों के भेष में घूम रहे व्यक्तियों को पकड़ा। जनता ने पुलिस के हवाले किया।

- यह घटना हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के गोहर कस्बे में हुई। न्यूज 18 की एक रिपोर्ट के मुताबिक वे फोटो में दिखाए गए  गेट-अप के साथ पिछले तीन दिनों से शहर में घूम रहे थे और लोगों से चंदा इकट्ठा कर रहे थे। स्थानीय लोगों को शक हुआ और उनसे पूछताछ शुरू की। रिपोर्ट में कहा गया है कि इसी दौरान विवाद हुआ और आखिर में भीड़ ने उनकी पिटाई कर दी। तीनों पंजाब के रहने वाले हैं। 

- ऑल्ट न्यूज के मुताबिक, इस खबर को लेकर जब मंडी जिला पुलिस से संपर्क किया। एसपी गुरदेव चंद शर्मा ने कहा, कुछ गलतफहमी के कारण उनकी पिटाई की गई। ये लोग नशे में थे। यह पता चला कि वे रूपनगर (पंजाब में एक जिला) के निवासी हैं। एक अफवाह फैलाई गई कि ये बच्चा चोर हैं। हालांकि दोनों पक्षों की ओर से कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई।

निष्कर्ष : वायरल वीडियो में दिख रहे लोग बच्चा चोर नहीं हैं। भीड़ ने गलतफहमी के चलते उन्हें पीटा। तीनों पंजाब के रहने वाले हैं। तीनों नशे में थे, उसी दौरान लोगों ने उनकी पिटाई कर दी।

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios