Asianet News Hindi

यहां धोखे से नॉनवेज बिरयानी खिलाने का आरोप, 23 लोगों के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर

महोबा में पुलिस ने 23 मुस्लिम युवकों के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है। आरोप है कि उन्होंने पीर बाबा के उर्स में मांसाहारी बिरयानी परोसी। पुलिस ने कहा कि स्थानीय भाजपा विधायक बृजभूषण राजपूत के हस्तक्षेप के बाद मामला दर्ज किया गया।
 

FIR registered against 23 Muslims youths for feeding nonveg biryani in Mahoba
Author
Uttar Pradesh, First Published Sep 5, 2019, 5:01 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

महोबा (उत्तर प्रदेश) . महोबा में पुलिस ने 23 मुस्लिम युवकों के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है। आरोप है कि उन्होंने पीर बाबा के उर्स में मांसाहारी बिरयानी परोसी। पुलिस ने कहा कि स्थानीय भाजपा विधायक बृजभूषण राजपूत के हस्तक्षेप के बाद मामला दर्ज किया गया।

31 अगस्त को था पीर बाबा का उर्स


- एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि शिकायतकर्ता मुकदमा वापस लेने के लिए तैयार थे, लेकिन विधायक वृजभूषण राजपूत ने उससे शिकायत दर्ज करने का आग्रह किया। यह घटना जिले के चरखारी थाना क्षेत्र में 31 अगस्त को उर्स के दौरान हुई थी। स्थानीय लोगों के अनुसार, पिछले छह सालों से हर साल धार्मिक मण्डली (उर्स) का आयोजन किया जाता है। एफआईआर में कहा गया है कि हिंदू समुदाय के लोगों को बिना बताए भैंस के मांस को चावल के साथ परोसा गया। 

उर्स में 13 गांवों के लोग आए थे : भाजपा विधायक

- इस बीच भाजपा विधायक ने कहा कि जब उन्हें इस घटना के बारे में पता चला तो उन्होंने ग्रामीणों से प्राथमिकी दर्ज करने के लिए कहा। विधायक ने कहा, "शनिवार को सलात गांव में एक उर्स आयोजित किया गया था, जिसमें हिंदू भी भाग लेते हैं और दान भी देते हैं। हर साल यहां एक विशाल भंडारा होता है जहां शाकाहारी भोजन परोसा जाता है। इस साल भी 13 गांवों के लगभग 10,000 लोग इसमें भाग लेने आए।"
 
- "इस साल जब दावत शुरू हुई, तो कई हिंदुओं को बाबा का प्रसाद होने के बहाने चावल परोसा गया। जब कुछ लोगों ने इसे खाना शुरू किया तो उन्हें मांसाहार और हड्डियां मिलीं। जब मामला आगे बढ़ा तो एक पंचायत बुलाई गई, जिसमें मुख्य आरोपी ने स्वीकार किया कि गलती से भैंस का मांस परोसा गया था। उन्होंने माफी मांगी और शुद्धिकरण की व्यवस्था करने के लिए 50,000 रुपए देने की पेशकश की।" 

- "मैंने गांव में जाकर जिम्मेदार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए कहा क्योंकि उन्होंने जानबूझकर हमारी धार्मिक भावनाओं को आहत किया।"  

विधायक के हस्तक्षेप के बाद मामला फिर से उठा

- चरखारी पुलिस स्टेशन के एसएचओ अनूप कुमार पांडे ने कहा, "मुख्य आरोपी पप्पू अंसारी पर दावत में धोखे से मांसाहार बिरयानी खिलाने का आरोप है। विवाद होने पर मैं वहां पहुंचा और स्थिति को नियंत्रण किया। हालांकि, बाद में विधायक ने हस्तक्षेप किया और मामला फिर से उठाया गया। मैंने विधायक से कहा कि अगर कुछ गलत हुआ है तो शिकायत दें। अब हमने शिकायत के आधार पर एक प्राथमिकी दर्ज की है।"

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios